जयपुर : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए आज कहा कि कांग्रेस पार्टी को इन दिनों लोग 'बेल गाड़ी' के नाम से पुकारने लगे हैं, क्योंकि वर्तमान समय में कांग्रेस के कई दिग्गज नेता एवं पूर्व मंत्री जमानत पर बाहर हैं।

मोदी ने कांग्रेस द्वारा सेना की क्षमताओं पर सवाल उठाने की आलोचना करते हुए कहा कि देश के लोग उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे। मोदी ने जयपुर के 'अमरूदों के बाग' में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सभी जानते हैं कि पूर्ववर्ती सरकार ने किस नीयत से काम किया और इसी नीयत का परिणाम है कि कांग्रेस को आजकल कुछ लोग 'बेल गाडी' बोलने लगे हैं। कांग्रेस के दिग्गज कहे जाने वाले कई नेता और कई पूर्व मंत्री आजकल बेल पर यानि जमानत पर हैं। लेकिन जनता ने जिस भरोसे के साथ कांग्रेस की संस्कृति का नकारा और भाजपा को जनादेश दिया उस भरोसे को दिनों दिन मजबूत करने का काम भाजपा की सरकार कर रही है।

इसे भी पढ़ें

जयपुर पहुंचे पीएम मोदी का सीएम वसुंधरा ने किया स्वागत, सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से करेंगे संवाद

मोदी ने इससे पहले राजस्थान के विभिन्न जिलों की 2100 करोड़ रूपये की 13
योजनाओं का रिमोट कंट्रोल के जरिये शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि राजनैतिक विरोधियों ने सेना की क्षमता पर सवाल उठाने का पाप किया है। यह पहले कभी नहीं हुआ, राजस्थान और देश के लोग ऐसी राजनीति करने वालों को कभी माफ नहीं करेगें। उन्होंने कहा कि जिनको परिवार और वंशवाद की राजनीति करनी हो करें, लेकिन देश की रक्षा और स्वाभिमान को शिखर पर ले जाने का हमारा निश्चय अटूट है और हमारी नीतियां साफ हैं। यही कारण है जो ‘वन रैंक वन पेंशन' का मुद्दा सालों से अटका हुआ था, इस सरकार ने उसका भी समाधान किया।

इसे भी पढ़ें

अंबाति रामबाबू का सवाल- विशेष दर्जे को लेकर क्या चंद्रबाबू और मोदी जिम्मेदार नहीं हैं?

मोदी ने कहा कि देश आज एक अहम मोड़ पर खडा है और हम एक नई दिशा की ओर हम चल पडे़ हैं और मुझे विश्वास है कि जनता के सहयोग से सरकार अपने वायदों को पूरा करने में सफल होगी। उन्होंने किसी का नाम लिये बिना विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि एक वर्ग है जिसकी भाजपा का नाम सुनते ही नींद खराब हो जाती है, मोदी या वसुंधरा राजे का नाम सुनते ही उनको बुखार चढ़ जाता है, उनको ऐसे कार्यक्रमों से नफरत होती है, लेकिन इस तरह के कार्यक्रम का सबसे बड़ा लाभ यह है कि लोगों में जागरूकता आती है।

उन्होंने कहा कि योजनाएं सिर्फ कागज पर अटक नहीं जाती हैं, वह जनजन तक पहुंचती हैं, इसके कारण सरकारी मशीनरी पर एक दबाव पैदा होता है, जनता जर्नादन का एक दबाव पैदा होता है, लोगों में जागरूकता आती है। उन्होंने कहा कि बीते चार वर्षों में सरकार के जो भी कार्यक्रम बने हैं उनके केन्द्र में हमारी गरीब, शोषित, पीड़ित, वंचित, आदिवासी, किसान देश के केन्द्र बिन्दु में हैं।

मोदी ने कहा कि सरकार 2022 तक किसान की आय दोगुना करने के लक्ष्य पर काम कर रही है। वैज्ञानिक तरीके से उत्पादन बढ़ाने के लिए देश में अब तक 14 करोड़ 50 लाख मृदा स्वास्थ्य कार्ड किसानों को दिये जा चुके हैं। राजस्थान में भी करीब 90 लाख किसानों को मृदा कार्ड दिये जा चुके हैं। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री जनधन योजना, फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्ज्वला योजना, मुद्रा योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की उपलब्यिों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के उत्पादों का न्यूनतम समर्थन मूल्य डेढ़ गुणा बढ़ाने का निर्णय लिया है।

इस अवसर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस ने केवल अपने लोगों को लाभ पहुंचाने का काम किया और विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों का लाभ उनके परिजनों को मिला। इससे पहले प्रधानमंत्री को सभास्थल पर लगी बड़ी.. बडी स्क्रीनों के जरिये विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के पहले से रिकार्ड किये गये बयान वीडियो के जरिये दिखाये गये। इस अवसर पर किसानों के दो समूह भी प्रधानमंत्री से मिले।

इस अवसर पर राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह, केन्द्रीय राज्य मंत्री गजेन्द्र सिंह, अर्जुनराम मेघवाल, राज्यवर्धन राठौड़, पीपी चौधरी, सी आर चौधरी, भाजपा राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी सहित अन्य नेता मौजूद थे।