राजमपेट (आंध्र प्रदेश) : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता और पूर्व सांसद मिथुन रेड्डी ने कहा कि वाईएसार कड़पा जिले के प्रति मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायुडू भेदभाव कर रहे है। मिथुन रेड्डी ने सोमवार को कड़पा उक्कु-रायलसीमा हक्कु (कड़पा इस्पात-रायलसीमा का अधिकार) की मांग के समर्थन में राजमपेट केंद्र में आयोजित महाधरना में यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि वाईएसआर के शासनकाल में जो माहोल इस्पात संयंत्र के लिए था, अब वैसा माहोल क्यों नहीं है। चंद्रबाबू को पांच साल तक मौका दिया गया, मगर प्रदेश में अब तक किसी भी प्रकार का विकास नहीं हुआ है।

ये भी पढ़ें :

197वें दिन की डायरी : चंद्रबाबू के आश्वासन पानी की सतह पर बने बुलबुले की तरह हैं

प्रजा संकल्प यात्रा : 198वें दिन मामिडीकुदुरू से हुई शुरू

ऑटो चालकों ने समस्यों से कराया अवगत, YS जगन ने दिया समाधान का भरोसा

उन्होंने कहा कि कड़पा इस्पात संयंत्र की मांग के साथ टीडीपी धोखा कर रही है। चार साल तक टीडीपी के नेता इस्पता संयंत्र को लेकर खामोश रहे और अब इस्पात संयंत्र की याद आ रही है।

मिथुन रेड्डी ने सवाल किया टीडीपी के नेता सीएम रमेश को इस्पात संयंत्र को लेकर जरा सी भी चिंता है तो वे दिल्ली में अनशन शुरू करें। उन्होंने कहा कि वाईएसआरसीपी सत्ता में आते ही कड़पा में इस्पात संयंत्र स्थापित किया जाएगा। साथ ही विशेष दर्जा के लिए वाईएसआरसीपी संघर्ष करेगी।

इस्पात संयंत्र के लिए जारी महाधरना कार्यक्रम में स्थानीय लोगों ने भारी संख्या में भाग लिया। इस के बाद विशाल रैली निकाली गयी। इस महाधरना को राजमपेट बार असोएशिएन ने भी समर्थन किया है।