नई दिल्ली : कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा की गई नोटबंदी काले धन को सफेद करने के लिए 'स्वतंत्र भारत में किया गया सबसे बड़ा घोटला' था और केवल पांच दिनों के अंदर भाजपा शासित राज्यों खासकर गुजरात में सहकारी बैंकों में अधिकतम पुराने नोट जमा किए गए।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि एक आरटीआई से खुलासा हुआ है कि अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक, जिसके निदेशकों में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी हैं, में केवल पांच दिनों के अंदर सर्वाधिक 745.58 करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा किए गए।

सुरजेवाला ने कहा, "मोदी द्वारा की गई नोटबंदी की तबाही के 19 महीने बाद, अब यह अधिकारिक रूप से स्पष्ट हो चुका है कि यह पूरी कार्रवाई स्वतंत्र भारत में सबसे बड़ा घोटला थी, जिसमें बेईमानी से प्राप्त 'काले धन' को सफेद किया गया।"

यह भी पढ़ें :

गुलाम नबी के बयान पर भाजपा हमलावर, सोनिया-राहुल से मांगा जवाब

हिंदू आतंकवादी संबंधी टिप्पणियों पर दिग्विजय को पार्टी से निकाला जाए : भाजपा

उन्होंने कहा कि समय की जरूरत है कि नोटबंदी की समग्र जांच कराई जाए, क्योंकि इस संबंध में आरटीआई से हुआ खुलासा दिखाता है कि जिन जिला सहकारी बैंकों में अधिकतम पैसे जमा किए गए, वे भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के नियंत्रण में थे, जिसमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी शामिल हैं।

एजेंसी ने गुरुवार को आरटीआई के जवाब पर आधारित एक स्टोरी की थी, जो बताती है कि बैंक, जिसके निदेशकों में से एक अमित शाह हैं, ने अधिकतम संख्या में प्रतिबंधित नोट प्राप्त किए। सुरजेवाला ने कहा कि मोदी और शाह को इस तथ्य पर सफाई देनी चाहिए कि गुजरात में भाजपा नेताओं के नेतृत्व वाले 11 जिला सहकारी बैंकों में केवल पांच दिनों के अंदर 3,118.51 करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा किए गए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर शाह पर निशाना साधा है। राहुल ने ट्वीट किया, "अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक के निदेशक अमित शाहजी को बधाई हो। आपके बैंक ने पुराने नोट को बदलकर नया करने में प्रथम पुरस्कार पाया है। पांच दिनों में 750 करोड़ रुपये! नोटबंदी की वजह से लाखों लोगों की जिंदगियां बर्बाद हुईं, वे आपकी उपलब्धि पर सलाम करते हैं। शाहज्यादा खा गए।"

-आईएएनएस