नई दिल्ली : कांग्रेस ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए शुक्रवार को अनुवीक्षण समिति गठित की है। इसके साथ ही ओडिशा के लिए भी अनुवीक्षण समिति गठित की गई है, जहां अगले साल चुनाव होने हैं।

कांग्रेस की तरफ से जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार, पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा राजस्थान की अनुवीक्षण समिति की प्रमुख होंगी, जिसमें ललितेश त्रिपाठी और शाकिर सनदी सदस्य होंगे। अनुवीक्षण समितियां राज्य इकाई के टिकट आवंटन की सिफारिश की जांच करती हैं और पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति को अपनी सिफारिशें देती हैं। इसके बाद केंद्रीय चुनाव समिति अपना अंतिम निर्णय लेती है।

यह भी पढ़ें :

गुलाम नबी के बयान पर भाजपा हमलावर, सोनिया-राहुल से मांगा जवाब

नोटबंदी स्वतंत्र भारत का सबसे बड़ा घोटला, अमित शाह भी हैं शामिल : कांग्रेस

पार्टी नेता मधुसूदन मिस्त्री को मध्य प्रदेश की अनुवीक्षण समिति का प्रमुख बनाया गया है, जिसमें नीता डिसूजा और अजय कुमार लल्लू सदस्य होंगे। छत्तीसगढ़ की अनुवीक्षण समिति के प्रमुख असम कांग्रेस के पूर्व प्रमुख भुवनेश्वर कलिता होंगे और इसमें रोहित चौधरी और अश्विनभाई कोतवाल सदस्य होंगे।

केरल से पार्टी नेता वी.डी.सतीशन को ओडिशा की अनुवीक्षण समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है और जितिन प्रसाद व नौशाद सोलंकी इसके सदस्य होंगे। गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुइजिन्हो फलरियो मिजोरम की अनुवीक्षण समिति के अध्यक्ष होंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन समितियों का गठन किया है।

-आईएएनएस