लखनऊ : उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ गठबंधन के बाद फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव जीत चुकी समाजवादी पार्टी (सपा) का हौसला बुलंद है। पार्टी ने अब उप्र के बाहर भी अपनी जड़ें मजबूत करने की कवायद शुरू कर दी है।

सपा पदाधिकारियों के मुताबिक, अब मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी पार्टी के विस्तार का काम शुरू हो गया है। आने वाले विधानसभा चुनावों में सपा मजबूती से इन राज्यों में चुनाव लड़ेगी।

सपा के एक वरिष्ठ नेता ने बातचीत में बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी की कई टीमें मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ व राजस्थान में लगा चुके हैं। ये टीमें उन राज्यों में बूथ स्तर पर संगठन खड़ा करने में जुटी हुई हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, सपा नेता इन दिनों अखिलेश के निर्देश पर इन तीनों राज्यों के अलग-अलग इलाकों में पार्टी के विस्तार की कवायद और संभावनाएं तलाशने में जुटे हुए हैं। जल्द ही इन राज्यों से ये टीमें लौटकर अपनी रिपोर्ट अखिलेश यादव को सौपेंगी। इसके बाद ही अखिलेश इन राज्यों का दौरा शुरू करेंगे।

एक सपा नेता के मुताबिक, अखिलेश यादव जल्द ही इसी महीने मध्य प्रदेश का दौरा कर सकते हैं। व्यापम घोटाले वाले प्रदेश में पार्टी कम से कम 100 से अधिक विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है।

सपा ने वर्ष 2003 में भी मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव लड़ा था। उस समय सपा को सात सीटों पर जीत हासिल हुई थी। लेकिन उसके बाद हुए चुनावों में सपा एक भी सीट जीतने में कामयाब नहीं हुई थी। अब पार्टी यहां अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराना चाहती है।

सपा सूत्रों के मुताबिक, पार्टी छत्तीसगढ़ में भी अपना जनाधार बढ़ाना चाहती है। इसके लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी गई है। पार्टी का इरादा छत्तीसगढ़ में 35 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का है। यहां पर विधानसभा की कुल 90 सीटें हैं। अखिलेश यादव ने हालांकि छत्तीसगढ़ गए नेताओं को हर जिले का दौरा करने का निर्देश दिया है।

इसी तरह राजस्थान में सपा एमएलसी रामवृक्ष यादव के नेतृत्व में एक टीम विस्तार की कवायद में जुटी हुई है। पार्टी के विस्तार के साथ ही सपा इन राज्यों में यह भी पता लगा रही है कि बसपा के साथ गठबंधन का लाभ इन राज्यों में मिलेगा या नहीं। इसके बाद ही बूथ स्तर पर संगठन खड़ा करने की कवायद शुरू की जाएगी।

सपा के नेता और विधान परिषद सदस्य सुनील यादव साजन ने इन तीनों राज्यों में पार्टी के विस्तार को लेकर कहा कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बूथ स्तर तक संगठन को मजबूत करने की तैयारी चल रही है। यहां पर होने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी मजबूती के साथ लड़ेगी।

-आईएएनएस