नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सिर्फ जीएसटी और नोटबंदी उनकी सरकार की उपलब्धियां नहीं हैं, बल्कि करोड़ों लोगों को बैंकिंग व्यवस्था से जोड़ना, शौचालयों का निर्माण और विद्युतीकरण जैसे कई कदमों के बारे में बात की जा सकती है।

एक समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा, ‘‘इन दोनों कामों (जीएसटी और नोटबंदी') को ही मेरी सरकार का काम मानेंगे तो हमारे साथ यह अन्याय है। हमारे चार साल के काम को देखें।''

उन्होंने कहा, ‘‘इस देश में बैकों के राष्ट्रीयकरण के बाद भी 30-40 फीसदी लोग बैंकिंग सिस्टम से बाहर हैं। हमने उन्हें जोड़ा है। क्या ये उपलब्धि नहीं है? लड़कियों के स्कूल के लिए शौचालय, क्या ये कम (बड़ी उपलब्धि) नहीं है? 3.30 करोड़ लोगों के घर गैस पहुंचना क्या काम नहीं है। 90 पैसे में ग़रीब का इंश्योरेंस, क्या ये काम नहीं है।''

यह भी पढ़ें :

जीएसटी परिषद ने दी ई-वे बिल लागू करने की मंजूरी

पेट्रोलियम को जीएसटी के तहत लाने की तैयारी में सरकार

जीएसटी में राहत, अब सस्ता होगा एयर कंडीशन रेस्तारां में भोजन करना

मोदी ने कहा, ‘‘जहां तक जीएसटी का सवाल है, जब अटलजी की सरकार थी इसकी चर्चा शुरू हुई। यूपीए सरकार के समय इस मसले पर राज्यों की नहीं सुनी जाती थी, चाहे जो भी कारण रहा हो।

उन्होंने कहा, "मैं जब गुजरात का सीएम था तब बोलता था, पर नहीं सुनी जाती थी। एक देश, एक टैक्स की दिशा में हमने बहुत बड़ी सफलता पाई है। कोई व्यवस्था बदलती है तो थोड़े एडजस्टमेंट करने होते हैं। जब लॉन्ग टर्म में देखा जाएगा तो इन्हें बहुत सफल माना जाएगा।''