अमरावती: आंध्र प्रदेश विधानसभा में मंगलवार को किसानों की समस्याओं को लेकर हंगामा मचा। विपक्षी सदस्यों के विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी से विधान सभा गूंज उठी।

बता दें की जीएसटी विधायक को मंजूर करने के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया था। इसी दौरान वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सदस्यों ने किसानों की समस्याओं पर चर्चा करने की मांग की और विधानसभा सत्र आरंभ होते ही स्थगन प्रस्ताव पेश किया। जिसे विधानसभा अध्यक्ष ने ठुकरा दिया।

ये भी पढ़ें:

आंध्रप्रदेश की विधानसभा में गूंज उठा किसान आत्महत्याओं का मुद्दा

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के दफ्तर में MLC प्रत्याशी की जीत का जश्न

‘चंद्रबाबू का विशेष दर्जे की मांग से मुकरना लोगों के साथ छलावा’

विधानसभा के अध्यक्ष के रवैये को लेकर सभा में विरोध जताया गया। विपक्ष के सदस्यों ने स्पीकर की आसंदी के पास जाकर विरोध जताया। साथ ही उन्होंने किसानों की समस्याओं पर चर्चा करने की मांग की और ‘किसान विरोधी सरकार मुर्दाबाद’ के नारे लगाते हुए प्ले कार्ड प्रदर्शित किये। इसी दौरान वित्त मंत्री यनमला रामकृष्णुडू ने सभा में जीएसटी विधेयक पेश किया।

ये भी पढ़ें:

‘वोट के बदले नोट’ कांड में फंसे चंद्रबाबू फौरन इस्तीफा दें : YSRCP

नोटबंदी के खिलाफ हड़ताल को सफल बनाने पर वाईएस जगन ने जनता को दिया धन्यवाद

दूसरी ओर विपक्ष के सदस्यों ने कहा कि जब तक किसानों की समस्याओं पर चर्चा नहीं की जाती तब तक विरोध प्रदर्शन जारी रखने का ऐलान किया।

हंगामे की बीच ही जीएसटी विधेयक को पारित किया गया और विधान सभा अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई।