नई दिल्‍ली: दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को अपनी पार्टी के बड़े चुनावी वादे का ऐलान किया। केजरीवाल ने कहा कि 'अगर दिल्ली नगर निगम में आम आदमी पार्टी जीती तो नगर निगम में घरों पर लगने वाले हाउस टैक्स को ख़त्म कर देंगे और पुराना बकाया भी माफ़ कर देंगे'।

केजरीवाल ने कहा कि जब हमने दिल्ली में पानी मुफ्त किया था तब कहा गया था कि हमें इकोनॉमिक्स नहीं आती, लेकिन दिल्ली में हर महीने हर घर को 20,000 लीटर पानी मुफ्त देने के बावजूद दिल्ली जल बोर्ड सालाना 178 करोड़ के मुनाफे में है। अपने इस वादे को भी पूरा करने के लिए हम MCD में भ्रष्टाचार रोककर पैसा बचाएंगे।

ये भी पढ़ें:

आखिर अरविंद केजरीवाल बीबीसी पत्रकार पर क्यों भड़क गए?

एमसीडी चुनाव आचार संहिता लागू, 22 अप्रैल को ईवीएम से होगा मतदान

दिल्ली मुख्यमंत्री के घर के बाहर सफाई कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

केजरीवाल ने कहा कि पूरी ज़िम्मेदारी और गणना करने के बाद हम ये ऐलान कर रहे हैं और एक साल में MCD को ठीक कर देंगे, घाटे से फायदे में ले आएंगे। एक अंदाज़े के मुताबिक, दिल्ली में करीब 600 करोड़ रुपये सालाना का रेजिडेंशियल हाउस टैक्स है। जबकि नगर निगम की आय का सबसे बड़ा स्रोत प्रॉपर्टी टैक्स, एक बड़ा हिस्सा हाउस टैक्स से आता है।

जबकि बीजेपी ने केजरीवाल के इस चुनावी ऐलान पर हमला किया है। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि 'ये बड़ा शर्मनाक है कि केजरीवाल आज MCD चुनाव जीतने पर हाउस टैक्स समाप्त करने की बात कर रहे हैं, जबकि बीते 2 साल से दिल्ली की केजरीवाल सरकार तीनों नगर निगम को कई बार लिखकर सख्ती से हाउस टैक्स लगाने और वसूलने के लिए कह चुकी है।।। खासतौर से अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों से।'