भोपाल : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को केंद्रीय बजट को ऐतिहासिक और भारत का 'संपूर्ण कायाकल्प' करने वाला 'सर्वहितैषी' बताया।

केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा संसद में पेश केंद्रीय बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए चौहान ने कहा कि बजट से राज्य मजबूत होंगे। संघीय व्यवस्था मजबूत होगी और अर्थव्यवस्था को डिजिटल इकोनॉमी के रूप में नया जीवन मिलेगा।

उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र के विकास का विशेष ध्यान रखा गया है। यह बजट मिलकर विकास करने की सोच को आगे बढ़ाने वाला है। इतना ही नहीं, अखंड आर्थिक भारत के निर्माण में बजट की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

दुनिया मान रही है कि नोटबंदी से भारत की अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचा है, केंद्र सरकार ने भी जीडीपी में गिरावट की बात कही है, लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा, "भारतीय अर्थव्यवस्था विश्व की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बन गई है। एक साझा भारतीय बाजार का निर्माण हो रहा है। इससे निवेश और आर्थिक वृद्धि में सुधार होगा।"

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले बजट में किसानों के कल्याण के लिए जो क्रांतिकारी प्रावधान किए गए थे, उन्हें इस बजट में मजबूती मिली है। डेयरी प्र-संस्करण, अधोसंरचना विकास फंड जैसे भविष्योन्मुखी प्रावधान प्रदेश के पशुपालकों के लिए मददगार होंगे।

मुख्यमंत्री ने 2019 तक एक करोड़ गरीबों की गरीबी खत्म करने के कदम का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए इंडिया इंटरनेशनल स्किल सेंटर मध्यप्रदेश जैसे युवाओं के प्रदेश के लिए लाभकारी होगा।

रेल बजट के प्रावधानों पर अपनी प्रतिक्रिया में मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ऑनलाइन रेलवे टिकट की बुकिंग पर सेवा कर खत्म करना एक बड़ा कदम है। इससे यात्रियों को सुविधा मिलने के साथ ही कैशलेस लेनदेन को भी बढ़ावा मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक दलों के लिए 2000 रुपये का व्यक्तिगत योगदान लेने और इससे ज्यादा पर डिजिटल हिसाब रखने के प्रावधान से राजनीति में शुचिता और पारदर्शिता आएगी।

--आईएएनएस