पटना: जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और वरिष्ठ नेता शरद यादव ने विवादित बायन दिया है। उनके मुताबिक "बेटी की इज्जत से वोट की इज्जत बड़ी है।" यादव ने ये बातें लोगों के बीच कही। उनके मुताबिक "बेटी की इज्जत जाएगी तो गांव-मोहल्लों की इज्जत जाएगी, वोट एक बार बिक गया तो देश की इज्जत और आने वाला सपना पूरा नहीं हो सकता।" दरअसल शरद यादव गिरते राजनीति और सियासत में पैसों की कालाबाजारी पर चिंता जता रहे थे।

शरद यादव के इस विवादित बयान की कड़ी निंदा की जा रही है। हालांकि यादव का विवादित बयान देने का पुराना इतिहास रहा है। इससे पहले भी शरद यादव ने महिलाओं के खिलाफ बोलकर आफत मोल ली थी। एक बार तो उन्होंने भारत में राष्ट्रपति की अहमियत पर ही सवाल खड़ा कर दिया था। पत्रकारों के साथ बदसलूकी में भी पीछे नहीं रहते हैं शरद यादव।

शरद यादव अक्सर मीडिया पर तोड़-मरोड़कर खबरें पेश करने की तोहमत लगाते हैं। लेकिन इस बार उनके विवादित बयान का वीडियो सामने आने के बाद उनकी बोलती बंद है। वोट को बेटी की इज्जत से जोड़ने वाले इस नेता ने फिलहाल अपने बिगड़े बोल के लिए माफी नहीं मांगी है। वहीं जिस तरह से लोगों की नाराजगी है इससे लगता है कि यादव अगर अपनी बात पर अड़े रहे, तो उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।