नई दिल्ली: लगता है राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा की मुसीबत बढ़ाने का जिम्मा ले लिया है। बिहार की तरह ही इस बार फिर विधानसभा चुनाव से पहले आरएसएस नेता ने आरक्षण खत्म करने की बात कही है।

आरएसएस के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने आरक्षण को खत्म करने की वकालत की है। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में मनमोहन वैद्य ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि आरक्षण से अलगाववाद बढ़ता है। बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की बात का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि एक वक्त के बाद आरक्षण को खत्म कर देना चाहिए।

यह भी पढ़ें :

बंगाल में गरजे भागवत, कहा- ‘हमें कोई नहीं रोक सकता’

मोदी, आरएसएस ने देश की संस्थाओं को कमजोर किया : राहुल

आपको बता दें कि बिहार चुनाव से पहले संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी आरक्षण को खत्म करने की बात कही थी। इस बयान को विपक्षियों ने इस कदर भुनाया कि भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा। एक बार फिर आरक्षण खत्म करने की बात बोलकर आरएसएस ने भाजपा की मुश्किलें जरूर बढ़ा दी है।