भोपाल : भारतीय महिला हॉकी टीम की पूर्व कप्तान और अर्जुन पुरस्कार प्राप्त सुनीता चंद्रा का सोमवार को यहां निधन हो गया। वह 76 साल की थीं। राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सुनीता चंद्रा के निधन पर दुख व्यक्त किया है।

दिवंगत चंद्रा के बेटे गौरव चंद्रा ने आईएएनएस को बताया सुनीता चंद्रा का सोमवार सुबह राजधानी के गुलमोहर क्षेत्र में स्थित आवास पर निधन हो गया। वह कुछ समय से वृद्धावस्था की समस्याओं से जूझ रही थीं।

चंद्रा के परिवार में उनके पति पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) यतीश चंद्रा और दो बेटे हैं। उनके एक बेटे गौरव चंद्रा पत्रकार हैं।

सुनीता चंद्रा के निधन पर दु:ख व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, "सुनीता चंद्रा ने भारतीय महिला हॉकी को एक नई ऊंचाई प्रदान की थी। वह एक उत्कृष्ट खिलाड़ी और देश का गौरव थीं।"

मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति तथा शोक संतप्त परिवार को दु:ख सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।