हैदराबाद : विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतनेवाली भारत की स्टार बैडमिंडन खिलाडी पीवी सिंधु ने कहा कि उनका सपना रहा है कि वह स्वर्ण पदक जीते। इसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की है। उन्होंने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित किया था।

पीवी सिंधु ने कहा कि मैच से पहली रात वह काफी देर तक जागती रहीं। पिछले मैच की सफलता और खामियों के बारे में सोचकर फाइनल मैच के लिए प्लान तैयार किया। इस प्लान के मुताबिक उन्होंने मैच में परफार्मेंस दिया। उन्होंने कहा कि मैच के शुरू होने से पहले राष्ट्रगान गाया जाता है। उस गायन की खुशी अलग ही होती है। राष्ट्रगान कर मन भर आता है और देश के लिए कुछ कर दिखाने का साहस और प्रेरणा मिलती है।

इसे भी पढ़ें :

पीवी सिंधु हैदराबाद पहुंची, खेल मंत्री श्रीनिवास गौड ने किया स्वागत

बैडमिंटन खिलाडी पीवी सिंधु ने कहा कि भविष्य में उन्हें और आगे बढ़ना है। ओलंपिक के अलावा कई सुपर सीरिज उन्हें खेलने हैं। विश्व स्तर पर अपने दूसरे नंबर रैंक को वह नंबर वन पर लाना चाहती है। इसके लिए वह और कडी मेहनत करेंगी। उन्होंने अपनी सफलता के लिए कोच गोपीचंद को भी जीत का भागीदार बताया।