नई दिल्ली : भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु इंडोनेशिया ओपन बैडमिंटन टूर्नमेंट के खिताबी मुकाबले में आज जापान की यामागुची से भिड़ेंगी। उन्होंने सेमीफाइनल में चीन की चेन यूफी को सीधे गेम में 21-19 और 21-10 से हराकर खिताबी मुकाबले के लिए क्वॉलिफाइ किया। इस साल यह पहला मौका है, जब उन्होंने किसी टूर्नमेंट के फाइनल में प्रवेश किया है।

46 मिनट तक चले मुकाबले में सिंधु के लिए पहला गेम मुश्किल रहा, लेकिन उन्होंने पिछड़ने के बाद वापसी की। यह गेम उन्होंने चेन के खिलाफ 26 मिनट में 21-19 से अपने नाम किया। दूसरे गेम में उन्होंने प्रतिद्वंद्वी को टिकने नहीं दिया और 20 मिनट में जीत दर्ज की। यह गेम 20 मिनट तक चला।

इस टूर्नमेंट के फाइनल में सिंधु का सामना चौथी सीड जापान की अकाने यामागुची से होगा। जापान की अकाने यामागुची खिलाफ सिंधु का बेहतरीन रेकॉर्ड रहा है। आपको यह भी बता दें कि यामागुची ने एक अन्य सेमीफाइनल में टॉप सीड चीनी ताइपे की ताई जू यिंग को 32 मिनट में 21-9, 21-15 से पराजित किया था।

इसे भी पढ़ें :

जन्मदिन विशेष : पीवी सिंधु योग और दौड़ से रखती हैं खुद को फिट, जानें क्या है उनका डाइट प्लान

चैंपियन बनने का मौका

पीवी सिंधु के पास इस टूर्नमेंट का खिताब जीतने का शानदार मौका है। अगर वह यामागुची को हरा देती हैं तो यह उनका पहला इंडोनेशिया ओपन खिताब होगा। ऐसा करने वाली वह दूसरी भारतीय महिला शटलर बन जाएंगी। उनसे पहले साइना नेहवाल ने इस टूर्नमेंट का खिताब 2010 और 2012 में जीता था, जबकि पुरुषों की बात करें तो श्रीकांत किदांबी ने 2017 में इस टूर्नमेंट में खिताबी जीत दर्ज की थी।