हिरोशिमा : भारतीय हॉकी टीम ने शनिवार को यहां जारी एफआईएच वुमेंस सीरीज फाइनल्स के सेमीफाइनल मुकाबले में चिली को 4-2 से हराकर न सिर्फ इस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई बल्कि एफआईएच ओलम्पिक क्वालीफायर-2019 में खेलने का हक भी हासिल कर लिया है।

भारत के लिए गुरजीत कौर ने दो जबकि नवनीत कौर और कप्तान रानी रामपाल ने एक-एक गोल दागा। चिली की ओर से कैरोलिना गार्सिया एवं मैनुएला उरोज ने गोल किए।

इस टूर्नामेंट के फाइनल में भारतीय टीम का मुकाबला मेजबान जापान से होगा। जापान ने पेनाल्टी शूटआउट तक गए एक अन्य सेमीफाइनल में रूस को 3-1 (1-1) से मात देकर फाइनल में जगह बनाई।

वर्ल्ड रैंकिंग में नौवें पायदान पर काबिज भारतीय टीम ने मैच की शुरुआत दमदार तरीके से की। हालांकि, पहले क्वार्टर में उसे सफलता नहीं मिली।

दूसरे क्वार्टर में भारत की शुरुआत खराब रही। 18वें मिनट में चिली ने काउंटर अटैक किया और कैरोलिना गार्सिया ने गोल करते हुए अपनी टीम को बढ़त दिला दी।

भारतीय टीम जल्द ही वापसी करने में कामयाब रही। 22वें मिनट में भारत को पेनाल्टी कॉर्नर मिला। गुरजीत ने कोई गलती नहीं की और बराबरी को गोल दागा।

इसे भी पढ़ें महिला हॉकी में भारतीय जूनियर टीम ने बेलारूस को 6-0 से पटका

तीसरे क्वार्टर की बेहतरी शुरुआत करते हुए भारतीय टीम ने 31वें मिनट में बढ़त बना ली। नवनीत ने 25 गज की लाइन के पास से शानदार रन लिया और गोल करने में कामयाबी पाई।

भारत को 37वें मिनट में एक बार फिर पेनाल्टी कॉर्नर मिला और इस बार भी गुरजीत ने गेंद को गोल में डालने में कामयाबी पाई। 43वें मिनट में उरोज ने गोल जरूर किया, लेकिन वह चिली की वापसी नहीं करा पाई। मैच का चौथ गोल 57वें मिनट में रानी ने किया।

फाइनल मुकाबला रविवार को खेला जाएगा। भारतीय समय अनुसार यह मैच दोपहर के 2:30 बजे होगा। एफआईएच डॉट लाइव पर इसका लाइव स्ट्रीमिंग होगा ।