भुवनेश्वर : भारत की स्टार स्प्रिंटर दुती चंद ने अपनी सहेली के साथ रिलेशनशिप में होने का सनसनीखेज बयान दिया है। इससे वह खुद को समलैंगिक बताने वाली भारत की पहली एथलीट बन गई हैं। ओडिशा के अपने पैतृक गांव की एक युवती के साथ अपनी जिंदगी बांटने की जानकारी दे चुकी दुती ने कहा कि कुछ अनिवार्य कारणों की वजह से फिलहाल वह उस युवती से जुड़ी जानकारी का खुलासा नहीं कर सकती।

दुती ने कहा, ''मैं मेरे सोलमेट को चुन चुकी हूं। अपने पसंद के व्यक्ति से प्रेम करने और उनके साथ जीवन बिताने का हक हर किसी को होता है। समलैंगिता के अधिकारों के संरक्षण के लिए मैं हर वक्त तैयार रहूंगी। प्यार को गलत ठहराने का अधिकार किसी को नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने भी यही बात कही है( सेक्शन 377 का जिक्र)। एथलीट होने का मतलब यह नहीं है कि मेरे फैसले को कोई और जज करें। यह मेरा व्यक्तिगत मामला है और मुझे उम्मीद है कि मेरे इस फैसले का सभी सम्मान करेंगे।

पिछले 10 वर्षों से स्प्रिंटर के रूप में मैं भारत को कई जीत दिला चुकी हूं और मुझे भरोसा है कि अगले पांच वर्षों तक जीत का सिलसिला जारी रखूंगी। मेरे खेल के सफर में सहयोग देते हुए जिन्दगीभर मेरे साथ देने वाले व्यक्ति को चुनी हूं। फिलहाल मेरा पूरा फोकस वर्ल्ड कप चैंपियनशिप और ओलंपिक खेलों पर है। खेल से विश्राम लेने के बाद ही पूरा समय उसे (पार्टनर) देकर जिन्दगी में सेटल होना चाहती हूं।''

इसे भी पढ़ें :

नेशनल शूटर तारा शाहदेव का धर्म परिवर्तन कराने के आरोपी रकीबुल हसन की जमानत याचिका खारिज

दूसरी तरफ, गरीबी को जीतकर ट्रैक पर दौड़ने की राह पकड़ चुकी दुती में पुरुष के लक्षण होने की शिकायत के बाद उनपर प्रतिबंध लगाया गया है। इस बात से आहत दुती ने ओडिशा एथलिट आर्बिट्रेशन कोर्ट में संघर्ष कर जीत हासिल की। पिछले वर्ष हुए एशियाई खेलों में दुती ने 100 मीटर और 200 मीटर के दौड़ में दो रजत हासिल किए थे।