गुवाहाटी : दो बार की चैम्पियन पीवी सिंधु ने योनेक्स सनराइज 83वीं सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैम्पियनशिप में गुरुवार को विजयी आगाज किया। तीसरे खिताब के लिए अपना दावा पेश कर रहीं सिंधु ने नागपुर की उभरती हुई स्टार मालविका बासोंद को 21-11, 21-13 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की की।

साल 2011 और 2013 में यह खिताब जीत चुकीं सिंधु क्वार्टर फाइनल में रिया मुखर्जी से भिड़ेंगी, जिन्होंने कनिका कानवाल को 21-11, 17-21, 21-18 से हराया।

22 साल के हर्षील दानी ने इस बीच चौथे सीड और बीते साल के सेमीफाइनलिस्ट शुभांकर डे को 21-15, 21-17 से हराकर बाहर का रास्ता दिखाया। इन दोनों के बीच वर्ल्ड रैंकिंग मं 83 स्थान का फासला है। डे 48वें स्थान पर हैं जबकि दानी 131वें रैंक्ड खिलाड़ी हैं।

दिन के सबसे चर्चित पुरुष युगल मैच में दूसरे सीड चिराग शेट्टी और प्रणव जेरी चोपड़ा ने वी दीजू और रुपेश कुमार केटी की दिग्गज जोड़ी को 21-8, 18-21, 22-20 से हराया और सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

इसे भी पढ़ें पीवी सिंधु को बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल जीत पर उपराष्ट्रपति ने दी बधाई

ध्रुव कपिला और कृष्णा प्रसाद की जोड़ी भी पुरुष युगल में जीत हासिल करने में सफल रही है। इस जो़ड़ी ने दीप रामभैया और प्रतीक रानाडे को 21-17, 21-14 से हराया और टॉप सीड अर्जुन एमआर तथा श्लोक रामचंद्रन के साथ भिड़ंत तय की, जिन्होंने सौरव शर्मा और रोहन कपूर को 21-11, 21-18 से हराया।

महिला युगल में कुहू गर्ग और अनुष्का पारीख ने अग्ना अंटो और स्नेहा सांथीलाल पर 21-10, 21-13 से जीत के साथ अपनी स्थिति मजबूत की। मिश्रित युगल में मनु अत्री और मनीषा के. को दूसरे सीड सौरव शर्मा और अनुष्का पारीख के हाथों हारकर बाहर होना पड़ा। वे यगह मुकाबला 10-21, 16-21 से हार गए।

राउंड ऑफ 16 एकल और क्वार्टर फाइनल मैच (युगल) गुरुवार से शुरू हुए। एकल में टॉप-8 सीड और युगल में टॉप-4 सीड खिलाड़ियों को क्रमश: प्री-क्वार्टर फाइनल और क्वार्टर फाइनल तक न खेलने की छूट मिली थी।

एकल के राउंड ऑफ 16 के अन्य मुकाबलों में एशियाई जूनियर चैम्पियन लक्ष्य सेन ने अंसल यादव को 21-11, 21-8 से हराया। टॉप सीड और 2015 के चैम्पियन समीर वर्मा को हालांकि चोट के कारण मुकाबले से बाहर होना पड़ा। वह आर्यामान टंडन के खिलाफ खेलते हुए पहला गेम 21-16 से जीत चुके थे और दूसरे गेम में 1-8 से पीछे थे।

दो बार के विजेता सौरव वर्मा ने कार्तिक डिंदल को 21-8, 21-15 से हराया। इसी तरह बोधित जोश्ी और कौश्ल धर्मामेर को अंतिम-8 में पहुंचने के लिए तीन गेम तक चले मुकाबले की चुनौती पार करनी पड़ी।

महिला एकल में असम की वंडर किड नाम से मशहूर अस्मिता चालिहा ने वैदेही चौधरी को तीन गेम तक चले मुकाबले में 21-13, 15-21, 21-12 से हराया। तीसरी सीड श्रेयांसी परदेसी ने दीपशिखा सिंह को 21-3, 21-7 से हराया जबकि जूनियर नेशनल चैम्पियन आकर्षी कश्यप ने पूर्व विजेता रितुपर्णा दास को 21-18, 21-12 से हराकर बड़ा उलटफेर किया।

महाराष्ट्र की नेहा पंडित ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए 2018 की टाटा ओपन क्वार्टर फाइनलिस्ट अनुरा प्रभुदेसाई को 21-14, 21-13 से हराया जबकि उनके ही राज्य की वैष्णवी भाले ने साई उत्तेजिता राव चुक्का को 21-13, 21-15 से हराया।

एक तरफ जहां हर सेक्शन में टॉप सीडेड डबल टीम्स सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहीं वहीं मनु अत्री और मनीषा के. ने मिश्रित युगल में दूसरी सीड सौरव शर्मा और अनुष्का पारीख को 21-10, 21-16 से हराया।