कोवलून (हांगकांग) : पीवी सिंधू मंगलवार को यहां हांगकांग विश्व टूर सुपर 500 टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगी तो उनकी नजरें अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखने पर टिकी होंगी।

पिछले साल सिंधू को फाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताइ जू यिंग के खिलाफ शिकस्त के बाद उप विजेता बनकर संतोष करना पड़ा था और इस भारतीय खिलाड़ी को कड़े प्रतिद्वंद्वियों की मौजूदगी में एक बार फिर पोडियम पर जगह बनाने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा।मौजूदा व्यस्त सत्र में सिंधू राष्ट्रमंडल खेल, विश्व चैंपियनशिप और एशियाई खेलों में रजत पदक जीतने में सफल रही। वह इंडिया ओपन और थाईलैंड ओपन के फाइनल में भी पहुंची।

सिंधू अपने अभियान की शुरुआत थाईलैंड की निचाउन जिंदापोल के खिलाफ करेंगी जबकि क्वार्टर फाइनल में उनका सामना चीन की ही बिंगजियाओ से हो सकता है जिनके खिलाफ इस साल उन्होंने तीन मुकाबले गंवाए हैं। मौजूदा सत्र में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण और एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने वाली साइना नेहवाल की राह काफी मुश्किल है। उन्हें जापान की दूसरी वरीय अकाने यामागुची के खिलाफ खेलना है।

साइना को अच्छा प्रदर्शन करने के लिए पिछले महीने के डेनमार्क ओपन की फार्म को दोहराना होगा जहां वह फाइनल में जगह बनाने में सफल रही थे। साइना ने ओडेंसे में दूसरे दौर में यामागुची को हराया था। पुरुष एकल में किदांबी श्रीकांत पहले दौर में हांगकांग के वोंग विंग की विन्सेंट से भिड़ेंगे और दूसरे दौर में उन्हें हमवतन एचएस प्रणय से भिड़ना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें : डेनमार्क ओपन में भारतीय चुनौती की अगुवाई करेंगी सिंधू, साइना

प्रणय अपने अभियान की शुरुआत डेनमार्क के एंडर्स एंटोनसन के खिलाफ करेंगे जिनके खिलाफ वह अब तक सिर्फ एक बार पिछले साल जापान ओपन में खेले हैं और जीत हासिल करने में सफल रहे। इस साल स्विस ओपन और हैदराबाद ओपन के खिताब जीतने वाले समीर वर्मा पहले दौर में थाईलैंड के सुपान्यु अविहिंगसानोन के खिलाफ उतरेंगे।

बी साई प्रणीत भी अपने अभियान की शुरुआत थाईलैंड के ही खोसित फेतप्रदाब के खिलाफ करेंगे। पुरुष युगल में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी को पहले दौर में दुनिया की पूर्व नंबर एक और लंदन ओलंपिक की रजत पदक विजेता मथियास बो और कार्स्टन मोगेनसन की डेनमार्क की जोड़ी से भिड़ना है। मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी का सामना बोडिन इसारा और मनीपोंग जोंगजीत की थाईलैंड की जोड़ी से होगा।

महिला युगल में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की सामना मिसाकी मात्सुतोमो और अयाका ताकाहाशी की जापान की दूसरी वरीय जोड़ी से होगा। अश्विनी मिश्रित युगल में सात्विक के साथ मिलकर वैंग ची लिन और ली चिया सिन से भिड़ेंगी।