तेलंगाना : कोरोना टेस्टिंग में लास्ट और पॉजिटिव में फर्स्ट

Telangana Last in Corona Testing - Sakshi Samachar

कोरोना वायरस टेस्टिंग में तेलंगाना सबसे पीछे

पॉजिटिव मामले में तेलंगाना सबसे फर्स्ट

हैदराबाद : कोरोना वायरस टेस्टिंग में तेलंगाना सबसे पीछे हैं। मगर पॉजिटिव मामले में सबसे फर्स्ट है। अधिकतर राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आई है। किंतु तेलंगाना में कोविड-19 के मामले हर दिन बढ़ते ही जा रहे हैं।

एक लाख से अधिक मामले दर्ज महाराष्ट्र और तमिलनाडु के मुकाबिले तेलंगाना में पॉजिटिव मामले सबसे अधिक दर्ज हो रहे हैं। भारत में टेस्ट कर चुके 100 लोगों में 7 मामले दर्ज हो रहे हैं। जबकि तेलंगाना में मात्र सौ लोगों में 19 पॉजिटिव मामले दर्ज किये जा रहे हैं।

महाराष्ट्र और दिल्ली को छोड़कर अन्य कोई भी राज्य तेलंगाना के आस पास तक भी नहीं हैं। पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश में बहुत कम पॉजिटिव मामले दर्ज करके नीचे से पहले स्थान पर है। जबकि टेस्टिंग में तीसरे नंबर है। मगर तेलंगाना पॉजिटिव मामलों नीचे से फर्स्ट नंबर पर है।

यह भी पढ़ें :

कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों की संख्या 1892 हुई, 20,000 के पार हुआ आंकड़ा 

देश में गुरुवार तक 92,97,749 लोगों का टेस्टिंग किया गया। तेलंगाना में मात्र अब तक 98,153 लोगों का टेस्टिंग किया गया। गोवा, मणिपुर, उत्तराखण्ड और हिमाचल प्रदेश जैसे छोटे राज्यों में टेस्टिंग की संख्या कम है।

इन राज्यों में पॉजिटिव मामले सैकड़ों में है। मगर टेस्टिंग मात्र हजारों में किये गये हैं। 15 हजार से भी कम मामले दर्ज किये गये सभी राज्यों में टेस्टिंग की संख्या 3 लाख पार कर गई है। परंतु तेलंगाना में मात्र टेस्टिंग की संख्या एक लाख के पास ही आकर रुक गया है।

इतना ही नहीं, रिकवरी रेट में भी देश के औसतन में तेलंगाना पीछे है। भारत में कोरोना संक्रमित 100 लोगों में से 60 लोग ठीक हो गये हैं। तेलंगाना में मात्र 100 में 49 मरीज ठीक हो गये हैं। एक कर्नाटक (46) को छोड़कर बाकी बचे अन्य राज्य रिकवरी रेट में तेलंगाना से काफी आगे हैं।

विश्लेषकों का मानना है कि वायरस संक्रमित होने पर भी कोविड-19 के लक्षण नहीं पाया जाता है तो 10 दिन बाद उसे रिकवरी लिस्ट में शामिल किया जाना चाहिए। मगर तेलंगाना में 8 दिन में ही रिकवरी लिस्ट में शामिल किया जा रहा है। यदि ऐसा नहीं किया जाता तो तेलंगाना में रिकवरी रेट और कम हो जाता है।

Advertisement
Back to Top