तेलंगाना की इस कंपनी ने अपने कर्मचारियों को दिया दिवाली गिफ्ट, कोरोना काल में मिलेगा लाख रुपये बोनस

Telangana company SCCL gave Diwali gift to its employees, will get million rupees bonus in the Corona period - Sakshi Samachar

सिंगरेनी कोल कंपनी के कर्मचारियों को मिली बोनस की दूसरी किस्त

अलग राज्य बनने के बाद कर्मचारियों के बोनस में 209 प्रतिशत की वृद्धि

सेना की तरह कठिन मेहनत करते हैं SCCL कंपनी के कर्मचारी

हैदराबाद: कोरोना काल के दौरान हुए लॉकडाउन ने लोगों को बुरी तरह से परेशान कर दिया। इस वजह से कितने ही लोगों की नौकरी गई और कई अन्य को सैलरी कट करके मिली। इस बीच हर घर और परिवार के आर्थिक हालात पर कोरोना का असर भी दिखा। आर्थिक रूप से देखें तो ज्यादातर परिवार पर कोरोना की दोहरी मार पड़ी। ऐसे मुश्किल हालात के बीच आज हैदराबाद की एक कंपनी के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आई है। राज्य सरकार और कंपनी ने आने वाले त्योहारी मौसम को ध्यान में रखते हुए कर्मचारियों के लिए बोनस की घोषणा की है।

बता दें कि सिंगरेनी कोलियरीज कंपनी लिमिटेड (SCCL) ने ​दशहरे और दिवाली जैसे त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए अपने कर्मचारियों को performance linked reward scheme (PLRS) के तहत 1,64,700 रुपये बोनस देने की घोषणा की है। कंपनी प्रबंधन के मुताबिक कर्मचारियों को इस शुक्रवार उनके पीएलआरएस का ​भुगतान कर दिया जाएगा। इसके लिए कंपनी ने ₹258 करोड़ जारी भी कर दिए हैं।

सिंगरेनी कोल कंपनी के कर्मचारियों को मिली बोनस की दूसरी किस्त

यह सिंगरेनी कंपनी के कर्मचारियों को दी जा रही बोनस की दूसरी किस्त है। इससे पहले पिछले वित्तीय वर्ष में कंपनी को ₹1,766 करोड़ का लाभ हुआ था। इस लाभ का 28 प्रतिशत शेयर यानी प्रति कर्मचारी तकरीबन एक लाख रुपये बोनस कंपनी ने अपने कर्मचारियों को दिया था।

कंपनी अधिकारियों के मुताबिक, सभी अंडरग्राउंड और ओपन कास्ट माइन वर्कर्स को उनके अटेंडेंस के आधार पर अधिकतम ₹64,700 दिवाली बोनस के तौर पर दिया जाएगा। पिछले वित्तीय वर्ष में उनकी छुट्टियों को ध्यान में रखकर इसमें से कुछ पैसे काट लिए जाएंगे।

अलग राज्य बनने के बाद कर्मचारियों के बोनस में 209 प्रतिशत की वृद्धि

कंपनी ने बताया कि तेलंगाना राज्य बनने के बाद से कंपनी के कर्मचारियों के बोनस में 209 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। साल 2013-14 में SCCL के कर्मचारियों को 13,540 रुपये बोनस के रूप में दिए गए थे जबकि इस साल SCCL का मुनाफा 418 करोड़ रुपये था। वहीं, साल 2017-18 में कंपनी के कर्मचारियों को 60,369 रुपये बोनस दिया गया।
 
कंपनी प्रबंधन के मुताबिक साल 2013-14 में कंपनी 504.7 लाख टन कोयले का उत्पादन करती थी। हर साल यहां कोयला के उत्पादन में वृद्धि दर्ज की जा रही है। साल 2018-19 में SCCL ने 644.1 लाख टन कोयले का रिकॉर्ड उत्पादन किया और 1,765 करोड़ का मुनाफा कमाया है।

दशहरे के मौके पर अपने कर्मचारियों को तकरीबन 1 लाख रुपये तक का बोनस देने जा रही है। गौरतलब है कि य​ह सिंगरेनी कोयला कंपनी राज्य सरकार के अंतर्गत आती है। विधानसभा में  मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने घोषणा किया है कि SCCL की ग्रोथ पिछले पांच सालों में बहुत अच्छी रही है और इसका क्रेडिट इसके कर्मचारियों को जाता है। उन्होंने कहा कि SCCL के नौकरीपेशा जान जोखिम में डालकर राष्ट्र की संपदा बढ़ाने का प्रयास करते हैं।

सेना की तरह कठिन मेहनत करते हैं इस कंपनी के कर्मचारी

मुख्यमंत्री ने यह भी कह दिया कि SCCL के कर्मचारियों का काम सेना के काम से कम नहीं है।राव ने कहा कि SCCL पिछले साल के मुकाबले इस साल अपने कर्मचारियों को लगभग 40,000 रुपये ज्यादा बोनस देगी। यह बोनस कंपनी के मुनाफे में से दिया जाएगा। अब हर एक इम्पलॉई को करीब 1,00,899 रुपये का बोनस मिलेगा। बता दें कि SCCL में 48,000 लोग काम करते हैं जिन्हें इस साल दशहरे पर यह बोनस मिलने जा रहा है।

राव ने कहा कि माइनिंग कंपनी SCCL तेलंगाना के विकास में बड़ा योगदान दे रही है। इसके पीछे उन इम्पलॉई का योगदान है, जो अपनी जान जोखिम में डालकर काम करते हैं और इसी वजह से कंपनी लगातार विकास कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इम्पलॉइज के हितों को ध्यान में रखते हुए ही कर्मचारियों को यह बोनस देने का यह महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है।

Advertisement
Back to Top