उज्जैनी महाकाली मंदिर में 'रंगम' संपन्न, माता ने कहा- "जैसी करनी वैसी भरनी"

Rangam Concluded at Secunderabad Ujjaini Mahakali Temple on Monday - Sakshi Samachar

उज्जैनी महाकाली मंदिर में संपन्न हुआ 'रंगम'

पूजा और यज्ञ होम करने से कष्ट होंगे दूर

हैदराबाद : सिकंदराबाद उज्जैनी महाकाली मंदिर का बोनालु उत्सव का सबसे मुख्य कार्यक्रम 'रंगम' (भविष्यवाणी) सोमवार को संपन्न हुआ। इस बार रंगम उत्सव हर साल से हटकर मनाया गया। 'पच्चीकोंडा' (रंगम की एक प्रक्रिया) रंगम पर आई जोगिनी स्वर्णलता ने भविष्यवाणी सुनाई।

पंडितों ने स्वर्णलता से सवाल किया "इस साल बारिश कैसी होगी? फसल कैसे होगी? लोगों का हाल कैसे रहेगा? मुख्य रूप से कोरोना संक्रमण और कितने दिन रहेगा? कोरोना महामारी कब समाप्त होगी? इसके लिए लोगों को क्या-क्या करना चाहिए?"

सिकंदराबाद उज्जैनी महाकाली मंदिर में पूजा-अर्चना करते हुए पुजारी

जोगिनी स्वर्णलता ने जो जवाब दिया वह सबको आश्यर्य चकित करने वाला रहा। स्वर्णलता ने कहा, "जैसी करनी वैसी भरनी। जिसने जो किया है, उसे भुगतना पड़ेगा।" साथ ही कहा कि एक मां के हैसियत से मैं लोगों की रक्षा करने की कोशिश करूंगी। मगर लोग ज्यादा ही (पाप) करते जा रहे हैं। मेरी संतान इस वक्त काफी तकलीफ झेल रही है। यह देखकर मैं भला कैसे प्रसन्न रह पाती हूं। मैं जरूर लोगों की रक्षा करूंगी।

माता ने चेतावनी देते हुए कहा कि आने वाले दिनों में लोगों को और होशियारी से रहना चाहिए। भविष्य में और भी मुश्किलें आ सकती हैं। लोगों को आने वाले मुश्किलों का डटकर मुकाबिला करना है। सावधान रहना है। मैं लोगों की रक्षा करूंगी। इसके लिए पांच सप्ताह तक मेरी पूजा और यज्ञ होम किया जाना चाहिए।  

Advertisement
Back to Top