लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने ढूंढा नायाब तरीका, करवा रही गलती का एहसास

Police found unique method for violating lockdown - Sakshi Samachar

पांच व्यक्तियों से अधिक संख्या में एकत्रित होने पर कड़ा प्रतिबंध

तेलंगाना में नियम न मानने वालों पर लाठियां चलाई गईं

AP में पुलिस बाहर निकलने वालों को उठक बैठक करवा रही है

नई दिल्ली : कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए किए गए देशव्यापी लॉकडाउन के बावजूद गैर जरूरी गतिविधियों के लिए जहां लोगों का बाहर निकलना जारी है वहीं पुलिस ऐसे लोगों को घर में रहने का महत्व समझाने के लिए नायाब तरीके अपना रही है। अनावश्यक बाहर घूमने वालों को मुर्गा बनाने, उठक बैठक करवाने से लेकर उनकी गलती का एहसास कराने के लिए पर्चे पर ‘स्वीकारोक्ति' लिखकर उसके साथ व्यक्ति की फोटो खींचने तक, पुलिस कर्मी सभी तरीके अपना रहे हैं।

एक व्यक्ति ने ट्वीट किया, “आंध्र प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान बाहर निकलने से पहले सोचें, मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने आवश्यक सामान खरीदने के लिए एक परिवार के एक ही व्यक्ति को जाने की अनुमति दी है। पांच व्यक्तियों से अधिक संख्या में एकत्रित होने पर कड़ा प्रतिबंध है।” ट्वीट करने वाले व्यक्ति ने इसके साथ 14 सेकंड का वीडियो भी पोस्ट किया जिसमें आंध्र प्रदेश पुलिस बाहर निकलने वालों को उठक-बैठक करवा रही है।

सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए एक अन्य वीडियो में देखा जा सकता है कि महाराष्ट्र पुलिस ने भी कुछ ऐसा ही तरीका अपनाते हुए कम से कम नौ लोगों से यातयात सिग्नल के पास उठक बैठक करवाई। पंजाब, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की पुलिस ने बंद का पालन कराने के लिए एक कदम आगे जाकर कार्रवाई की। ट्विटर के एक यूजर ने ट्वीट किया, “उत्तर प्रदेश पुलिस ने ‘जनता कर्फ्यू' को सफल बनाने के लिए अनावश्यक रूप से बाहर घूमने वालों को दंडित किया।”

ट्वीट के साथ लगाए गए वीडियो में नियम तोड़ने वालों को पुलिस द्वारा मुर्गा बनाते हुए देखा जा सकता है। पंजाब में बाहर घूमने वालों को या तो हाथ पांव के बल रेंगने को कहा जा रहा है या सड़क पर चारों खाने चित लेटने की सजा दी जा रही है। उत्तराखंड में बंद के नियम न मानने वालों की एक पर्ची के साथ तस्वीर खींची जा रही है जिसपर लिखा है, “मैं समाज का दुश्मन हूँ, मैं घर पर नहीं रह सकता।”

पंजाब में सजा पाने वालों की तस्वीर के साथ एक व्यक्ति ने ट्वीट किया, “पंजाब पुलिस…, नागिन डांस भी करवा दो भाई। इनसे… लोगों को समझ में क्यों नहीं आ रहा कि यह बहुत गंभीर मामला है। कृपया अपने घरों में रहें।” नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने भी सामाजिक दूरी को प्रोत्साहन देने के दिल्ली पुलिस के तरीकों की प्रशंसा ट्विटर पर करते हुए वीडियो साझा किया।

इसे भी पढ़ें :

जीवनावश्यक चीजें अधिक दाम पर बेचने पर कड़ी कार्रवाई : आल्ला नानी

गुंटूर, तेलंगाना, सीकर (राजस्थान) जैसी जगहों पर पुलिस ने नियम न मानने वालों पर लाठियां भी चलाईं। कई मामलों में आवश्यक काम के लिए बाहर जाने वालों को भी पुलिस ने परेशान किया। कई लोगों ने ऐसी घटनाओं के वीडियो ट्विटर पर साझा किए।  

Advertisement
Back to Top