निजामाबाद जिला अस्पताल के अधीक्षक का इस्तीफा, बताई ये वजह

Nizamabad district Hospital superintendent Resigned from His post - Sakshi Samachar

निजामाबाद अस्पताल के अधीक्षक डॉ नागेश्वर राव ने इस्तीफा दिया

अस्पताल में घटी घटनाओं से नाराज होकर डॉक्टर ने दिया इस्तीफा

निजमाबाद : जिला अस्पताल के अधीक्षक डॉ नागेश्वर राव ने अपने पद से इस्तीफा दिया है। साथ ही नागेश्वर राव ने कहा कि वह प्रोफेसर के रूप में कार्य करते रहेंगे।

उन्होंने यह भी कहा कि हाल ही में जिला अस्पताल में लगातार घटी घटनाओं से नाराज होकर इस्तीफा दिया है। डॉ नागेश्वर राव ने बताया कि इस्तीफे के प्रति वरिष्ठ अधिकारियों के पास भेज दी है।

आपको बता दें कि हाल ही में एक कोरोना मरीज के शव को ऑटो में से श्मशान वाटिका तक ले जाया गया। इस घटना के बाद अस्तपाल की लापरवाही पर उंगली उठायी गई। इस घटना पर जांच के आदेश भी दिये गये हैं।

संबंधित खबरें :

निजामाबाद अस्पताल के अधीक्षक को DME ने दिया यह आदेश

निजामाबाद में नियमों का खुला उल्लंघन, ऑटो से ले जाया गया कोरोना मरीज का शव

वैसे तो नियमों के अनुसार, कोरोना के कारण मौत हो चुके व्यक्ति के शव को एंबुलेंस या एस्कॉर्ट वाहन में ले जाना चाहिए। शव को ले जाते समय कर्मचारियों को पीपीई किट्स धारण करना होता है। मगर निजामाबाद में कुछ भी ऐसा नहीं हुआ है। कोविड-19 के नियमों का धड़ल्ले से उल्लंघन किया गया।

अस्पताल प्रबंधन ने कोरोना मरीज के शव को ऑटो में डालकर भेज दिया। चौंकाने वाली या दिल दहलाने वाली बात यह रही है कि ऑटो चालक और शव के साथ बैठा व्यक्ति ना ही ठीक से मास्क पहने हुए थे और नहीं पीपीई किट्स धारन किये हुए थे। अर्थात किसी प्रकार की एहतियात नहीं बरती गयी।

अस्पताल प्रबंधन ने इस घटना के स्पष्टीकरण में बताया गया कि अस्तपाल में एक मात्र एंबुलेंस है। अस्पताल में एक साथ तीन मरीजों की मौत हो गई है। ऐसे हालत में एक शव को ऑटो में भेजना पड़ा।

Advertisement
Back to Top