दुविधा : फिर से लॉकडाउन की बात कह रहे CM KCR, मंत्रीजी कह रहे कोरोना से मृत्यु दर बेहद कम

minister etela rajender press meet coronavirus - Sakshi Samachar

तेलंगाना में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं 

स्वास्थ्य मंत्री ईटेला ने कहा कोरोना से घबराएं नहीं 

राज्य में कोरोना से मृत्यु दर बेहद कम है

हैदराबाद : तेलंगाना में कोरोना वायरस के केस बढ़ते ही जा रहे हैं और जीएचएमसी में तो इसका उग्र रूप साफ देखा जा सकता है। इस बीच स्वास्थ्य मंत्री ईटेला राजेंदर ने कहा कि  शहर के लोग कोरोना वायरस से डर रहे हैं और यदि आवश्यक होगा तो हैदराबाद में फिर से ल़ॉकडाउन लागू करने की योजना बना रहे हैं। मंत्रिमंडल दो-तीन दिनों में इस पर फैसला लेगा।

ईटेला राजेंदर ने सोमवार को मीडिया को बताया कि राज्य में कितने ही लोगों का इलाज चल रहा है और इस बारे में सोशल मीडिया पर काफी दुष्प्रचार किया जा रहा है। 

उन्होंने कहा कि हम सरकारी अस्पतालों में आधी रात को आने वालों का इलाज भी कर रहे हैं। चिकित्सा विभाग में अब तक 258 कोरोना पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए हैं। निजी अस्पतालों में कार्यरत 36 मेडिकल कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। कोरोना से एक हेड नर्स की मौत भी हो गई। 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऐसा दुष्प्रचार करके मेडिकल स्टाफ के मनोबल को नुकसान न पहुंचाएं। उन्होंने आगे कहा कि हमारे राज्य में कोरोना से मौतें ज्यादा नहीं हैं। जहां देश में मौतें 3 प्रतिशत हैं तो हमारे राज्य में मृत्यु दर 1.7% है। हमने ग्रामीण क्षेत्रों में सख्ती से लॉकडाउन लागू किया है इसीलिए कोरोना के मामले में गांवों में कोई डर नहीं है।  हालांकि हैदराबाद में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं।

हम शहर में कोरोना की रोकथाम पर सीएम केसीआर के साथ चर्चा कर रहे हैं। हम ICMR के दिशानिर्देशों के अनुसार ही कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है। 

मंगलवार से ज्यादा होंगे कोरोना परीक्षण 

कोविद -19 संक्रमण के निदान के लिए संदिग्ध रोगियों के नमूनों का बड़े पैमाने पर संग्रह मंगलवार से तेलंगाना भर में किया जाएगा, स्वास्थ्य मंत्री, ईटेला राजेंदर ने इसकी जानकारी दी। 

किंग कोठी के गवर्नमेंट जनरल हॉस्पिटल में मरीजों के लिए चौबीसों घंटे स्वाब सैंपल कलेक्शन की सुविधा उपलब्ध होगी, इसके अलावा अन्य नामित सरकारी अस्पतालों में जहां दिनभर सैंपल कलेक्शन किया जाएगा।

जिन लोगों को संदेह है कि वे कोरोनोवायरस से संक्रमित हो सकते हैं, उन्हें पहले किंग कोठी, फीवर अस्पताल या उस्मानिया जनरल अस्पताल में सरकारी अस्पताल जाना चाहिए, जहां नमूने एकत्र किए जाएंगे और परीक्षण के लिए भेजे जाएंगे। 

ईटेला ने कहा कि यदि स्वाब के नमूने पॉजिटिव होंगे तो रोगी की स्थिति के आधार पर, उन्हें या तो गांधी अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा या उन्हें घर पर रखा जाएगा।

सोमवार को मीडियाकर्मियों के साथ बातचीत करते हुए, राजेंदर ने कोविद -19 की बात करते हुए लोगों से न घबराने की अपील की। ईटेला ने कहा कि “बीमारी संक्रामक है लेकिन लोग इससे ठीक हो रहे हैं। बुजुर्गों और अन्य बीमारियों से पीड़ित रोगियों को सतर्क रहना चाहिए"।

इसे भी पढ़ें : 

कोरोना : हैदराबाद में शाम 7 बजे तक ही खुले रहेंगे मेडिकल स्टोर, आज हुआ फैसला

कोरोना : हैदराबाद पहुंची केंद्रीय टीम, शहर के विभिन्न अस्पतालों और लैब का करेगी निरीक्षण​

Advertisement
Back to Top