हैदराबाद के डॉक्टरों के नाम एक और बड़ी सफलता, 20 साल के युवक की जटिल सर्जरी से बचाई जान

Hyderabad : Surgeons Save 20-year-old Boy Life, Replace Heart Aorta - Sakshi Samachar

हैदराबाद :  यहां हाईटेक सिटी ( HighTecCity) में स्थित मेडिकवर हॉस्पिटल्स ( Medicover Hospitals) के कार्डियोथोरेसिक सर्जन (Cardiothoracic surgeons), ने 20 साल के एक नौजवान के जीवन को बचाने में कामयाबी हासिल की है। दरअसल डॉक्टरों ने युवक की एक एक सर्जरी की है। दरअसल युवक के हार्ट ( Heart) को खून सप्लाई करने वाली नस फट गई थी जिसकी डॉक्टरों ने सर्जरी की है। 

जिस युवक की सर्जरी की गई है वो नागपुर का रहने वाला है। उसे एओर्टिक डिसेक्शन के अलावा, मार्फ़न सिंड्रोम था। यह एक दुर्लभ किस्म की बीमारी है जो पैरेंट्स से बच्चों में आती है। इस बीमारी की वजह से शरीर में मौजूद ऊतक प्रभावित हो जाते हैं। दरअसल शरीर मौजूद जोड़ वाले हिस्से जो कि काफी लचीले होते है को ये टिश्यू मजबूती प्रदान करते है। इनसे ही हार्ट के वॉल्व, शरीर की रक्ति वाहिकाओं आदि को शक्ति मिलती है। 

युवक को जब हॉस्पिटल लाया गया तब उसे चेस्ट और पीठ में काफी दर्द था। यह दर्द गर्दन से लेकर पीठ के निचले हिस्से तक में होती है। यही नहीं इसमें चेतना का भी आभास होना बंद हो जाता है और तो और सांस लेने में भी काफी तकलीफ होती है।

डॉ. प्रमोद रेड्डी, मुख्य कार्डियोथोरेसिक और आर्टिक सर्जन, डॉ. शरथ रेड्डी, इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट और अन्य वरिष्ठ डॉक्टरों ने इस जटिल ऑपरेशन की प्रक्रिया को अंजाम दिया है। युवक के  इस बड़ी सर्जरी में उसके शरीर की एओर्टा के आधे हिस्से को ही बदल दिया गया है। इस सर्जरी को टेक्निकल मेडिकल टर्म में एलिफैंट ट्रंक के नाम से जाना जाता है।   सफल सर्जरी के बाद, यंगस्टर ने काफी तेजी से रिकवरी की है।

Advertisement
Back to Top