भारी बारिश के बाद फिर खोले गए उस्मानसागर के तीन गेट, जानिए क्या है शहर के हालात

Hyderabad Heavy Rain Updates - Sakshi Samachar

भारी बारिश ने सौ साल पहले का रिकॉर्ड तोड़ दिया

बारिश हैदराबाद को सुधरने का मौका नहीं दिया रहा

हैदराबाद : गत मंगलवार, बुधवार और शनिवार को शाम को हुई भारी बारिश से लगता है कि वरुण देव हैदराबाद से बदला ले रहे हैं। भारी बारिश ने सौ साल पहले का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। भारी बारिश हैदराबाद को सुधरने का मौका ही नहीं दे रहा है। शनिवार को शाम 6 बजे से शुरू हुई बारिश देर रात तक जा रही। इसके चलते नगर का जन जीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया।

लोगों को सावधान करते हुए पुलिसकर्मी

जलमग्न सड़कें

खबर है कि हैदराबाद-वरंगल, हैदराबाद-विजयवाड़ा मुख्य मार्ग और शहर के नीचले इलाकों में सड़कें पूरी तरह से जलमग्न हो गईं। इसके चलते दोनों मार्गों पर भारी ट्रैफिक जाम हो गया। पुराने शहर के छत्रिनाका में बाढ़ के पानी में कई वाहन फिर से बह गये हैं। फलकनुमा रेलवे ब्रिज पास एक विशाल गड्ढा हो गया। इसके कारण यह मार्ग बंद कर दिया गया। लगभग पूरे शहर का यही हाल रहा है।

एक व्यक्ति की मौत 

बाढ़ग्रस्त एरिया में फिर से बिजली आपूर्ति पूरी तरह से काट दी गई। इसके चलते शहर के अनेक हिस्सों में अंधेरा छाया रहा। मलकपेट में पोचम्मा मंदिर के पास बिजली का पोल छूने से श्रीकाकुलम जिले के रामू (40) की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने रामू के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है।

फिर से यातायात बंद 

अधिकारियों ने हैदराबाद-विजयवाड़ा मार्ग पर बारिश का पानी जमा होने के कराण वाहनों के आवागमन को पूरी तरह से रोक दिया है। इसी तरह नारापल्ली-जोड़ीमटला और उप्पल तालाब के पास बारिश का पानी ठहर जाने के कारण वरंंगल-हैदराबाद मार्ग पर वाहनों की अनुमति नहीं दी गई।

हिमायतसागर के 3 गेट ओपन

इसी क्रम में भारी बारिश के कारण हिमायतसागर का जलस्तर बढ़ रहा है। इसके चलते अधिकारियों ने शनिवार रात 9 से 10 बजे के बीच सागर के तीन गेट खोल दिये। क्योंकि ऊपरी क्षेत्र से बारिश का पानी भारी मात्रा में हिमायतसागर में आ रहा है। इस समय हिमायतसागर के चार गेट से चार फीट पानी निचले इलाकों में छोड़ा जा रहा है। इसके चलते अधिकारियों ने नीचले इलाके के लोगों से सतर्क रहने का आग्रह किया है।

उस्मानसागर (गंडीपेट)

Advertisement
Back to Top