अवध शिल्प ग्राम में हुनर हाट का शनिवार से आगाज, आंध्र और तेलंगाना के शिल्पकार भी ले रहे हिस्सा

 Hunar Haat in Awadh Shilpgram in Lucknow AP Telangana Artisans are participating - Sakshi Samachar

लखनऊ: अवध शिल्प ग्राम (Awadh Shilpgram) में हुनर हाट (Hunar Haat) सज-धजकर पूरी तरह तैयार है। देश के 31 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के दस्तकारों, शिल्पकारों के उत्पादों से सुसज्जित 24 वें हुनर हाट का उद्घाटन शनिवार ( 23 जनवरी) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) करेंगे। खास बात ये कि उत्तर भारतीय शिल्पकारों के साथ ही दक्षिण भारत (South India) से बड़ी संख्या में आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और तेलंगाना (Telangana) के शिल्पकारों की भी यहां भागीदारी होगी। शिल्पकला और काश्तकारी को लेकर तेलंगाना और आंध्र के कई जिले अपनी राष्ट्रीय पहचान रखते हैं, जिन्हें हुनर हाट में परखने का मौका मिलेगा। इसके अलावा दक्षिण के व्यंजनों का स्वाद भी नवाबों की नगरी लखनऊ के लोग चख पाएंगे। 

लखनऊ के हुनर हाट में आंध्र, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, झारखण्ड, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, मध्य प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, नागालैंड, ओडिशा, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से लगभग 500 हुनरमंद अपने उत्पादों के साथ पूरे समय तक मौजूद रहेंगे।

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि लखनऊ के हुनर हाट में देश के दस्तकार/शिल्पकार अजरख, प्लिक, आर्ट मैटल वेयर, बाग प्रिंट बाटिक, बनारसी साड़ी, बंधेज, बस्तर की जड़ी-बूटियां, स्लैक पॉटरी, ब्लॉक प्रिंट, बैत-बांस के उत्पाद, चिकनकारी, कॉपर बेल, ड्राई फ्लावर्स, खादी के उत्पाद, कोटा सिल्क, लाख की चूड़ियां, लेदर, पश्मीना शाल, रामपुरी वायलिन, लकड़ी एवं लोहे के खिलौने, काया एम्ब्रोइडरी, पीतल, क्रिस्टल ग्लास के आइटम, चन्दन की कलाकृतियों के स्वदेशी हस्तनिर्मित एक से बढ़कर एक नायाब उत्पाद प्रदर्शन एवं बिक्री के लिए होंगे।

हुनर हाट में आने वाले लोग देश के पारम्परिक उत्पादों के साथ पारम्परिक लजीज पकवानों का लुत्फ भी उठाएंगे, वहीं शाम के समय जाने-माने कलाकारों द्वारा आत्मनिर्भर भारत थीम पर गीत-संगीत के कार्यक्रम होंगे। इन कार्यक्रमों में कैलाश खेर, विनोद राठौर, शिबानी कश्यप, सूफी गायक हमसर हयात आदि जाने-माने कलाकार प्रस्तुति देंगे। नकवी ने बताया कि, "हुनर हाट दस्तकारों, शिल्पकारों के लिए बहुत उत्साहवर्धक और लाभदायक साबित हो रहे हैं। एक और जहां हुनर हाट में लाखों लोग आते हैं, वहीं दूसरी और लोग करोड़ों रुपए की दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी उत्पादों की जमकर खरीददारी भी कर रहे हैं। पिछले लगभग 5 वर्षो में हुनर हाट के माध्यम से 5 लाख से ज्यादा दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों और उनसे जुड़े लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध हुए हैं। हुनर हाट से देश के कोने-कोने की शानदार जानदार पारम्परिक दस्तकारी, शिल्पकारी की विरासत को मजबूती और व्यापक पहचान मिल रही है। विदेशों में भी हम हुनर हाट को ले जा रहे हैं। आने वाले समय में पुर्तगाल में हुनर हाट आयोजित किया जाएगा।"

प्रदेश में चल रहे ओडीओपी अभियान की तारीफ करते हुए नकवी ने कहा हमने राज्य सरकार की मदद से ओडीओपी उत्पादों को भी हुनर हाट से जोड़ा है। हुनर हाट का मुख्य आकर्षण उत्तर प्रदेश के एक जिला, एक उत्पाद (ओडीओपी) होंगे। प्रदेश के सभी 75 जिलों के खास उत्पादों की दुकानें सज गई हैं। इनमें संबधित जिले के ये उत्पाद अपनी पूरी खूबी और रेंज के साथ मौजूद हैं।

हुनर हाट: देश के शिल्पकारों का 'एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज' 

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शुक्रवार को कहा कि 'हुनर हाट' देश के दस्तकारों और कारीगरों का 'एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज' साबित हो रहा है और इस आयोजन के जरिए अब तक पांच लाख से ज्यादा कारीगरों को रोजगार के अवसर दिए गए हैं। नकवी ने अपने मंत्रालय द्वारा यहां शनिवार को शुरू हो रहे 15 दिवसीय हुनर हाट कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि देश के शिल्पकारों को एक बेहतरीन मंच देने वाला यह कार्यक्रम उनके लिए एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज साबित हो रहा है। उन्होंने बताया कि अब तक 500000 से ज्यादा दस्तकारों और शिल्प कारों को हुनर हाट के जरिए रोजगार के अवसर दिए गए हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हुनर हाट को सरकारी खरीद फरोख्त के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले जेम पोर्टल पर भी डाला गया है। यह इसकी प्रामाणिकता और प्रसिद्धि को जाहिर करता है। हुनर हाट अब ई-प्लेटफॉर्म पर भी उपलब्ध है। नवाबों के शहर लखनऊ के अवध शिल्पग्राम में आयोजित होने वाली इस 24वीं हुनर हाट में देश के 31 राज्यों के 500 से ज्यादा हुनरमंद लोग अपने उत्पादों की प्रदर्शनी और बिक्री करेंगे। "वोकल फॉर लोकल" थीम पर आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। 

नकवी ने कहा कि लखनऊ के "हुनर हाट" में आने वाले लोग देश के पारंम्परिक लजीज़ पकवानों का लुत्फ़ भी उठाएंगे, वहीं देश के जाने-माने कलाकारों द्वारा हर दिन प्रस्तुत किये जाने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आकर्षण का केंद्र होंगे। "हुनर हाट" में प्रतिदिन सांयकाल जाने-माने कलाकारों द्वारा "आत्मनिर्भर भारत" थीम पर गीत-संगीत के कार्यक्रम होंगे। इन कार्यक्रमों में प्रसिद्द कलाकार जैसे कैलाश खेर, विनोद राठौर, शिबानी कश्यप, भूपेंद्र भुप्पी, मिर्ज़ा सिस्टर्स, प्रेम भाटिया; हमसर हयात ग्रुप अपने कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में "हुनर हाट" का आयोजन मैसूर, जयपुर, चंडीगढ़, इंदौर, मुंबई, हैदराबाद, नई दिल्ली, रांची, कोटा, सूरत/अहमदाबाद, कोच्चि, पुडुचेरी आदि स्थानों पर भी होगा। 

Advertisement
Back to Top