ऑनलाइन क्लास के नाम पर फीस की लूट पर हाईकोर्ट में सुनवाई, 1 फरवरी से खुलने वाले हैं स्कूल

Hearing on Petition filed against School fees in Hyderabad by HSPA - Sakshi Samachar

हैदराबाद : प्राइवेट स्कूलों में ऑनलाइन क्लासेज के नाम पर हो रही फीस की लूट पर हैदराबाद स्कूल्स पेरेंट्स एसोसिएशन द्वारा दाखिल याचिका पर तेलंगाना हाईकोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई की। कोर्ट ने कहा कि 1 फरवरी से सरकारी स्कूल खुलने के मद्देजनर 31 जनवरी तक घटने वाले घटनाक्रमों पर नजर रखी जाएगी। साथ ही हाईकोर्ट ने स्कूल प्रबंधनों को स्कूल खुलने के बाद अन्य फीस के नाम पर अधिक वसूली नहीं करने का आदेश दिया।

गौरतलब है कि ऑनलाइन एजुकेशन के नाम पर प्राइवेट स्कूल प्रबंधनों पर अधिक फीस वसूलने और फीस के नाम पर हो रही लूट को रोकने की अपील करते हुए कुछ लोगों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। उन्होंने याचिका में कहा है कि फीस वसूली के मामले में निजी स्कूलों के प्रबंधन शासनादेश 46 का उल्लंघन कर रहे हैं।

इस बीच, हैदराबाद स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन (HSPA) से ये भी पता चला कि कुछ अभिभावकों को स्वच्छता के लिए अतिरिक्त शुल्क के साथ शुल्क अलर्ट के लिए एसएमएस संदेश प्राप्त हुए थे।

एचएसपीए के संयुक्त सचिव वेंकट साईनाथ ने कहा कि “हम जानते थे कि ये होगा। स्कूल किसी न किसी तरह से हमसे अतिरिक्त शुल्क लेंगे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, जीओ 46 का कोई फायदा नहीं है, क्योंकि स्कूल अब पूरी फीस ट्यूशन फीस के रूप में जमा कर रहे हैं और अभिभावकों को इसका कोई विस्तृतित ब्योरा नहीं दे रहे हैं।

एचएसपीए के संयुक्त सचिव ने कहा कि, 'हमने शिक्षा मंत्री से GO-46 पर स्पष्टता देने का आग्रह किया जो केवल ट्यूशन फीस के इकट्ठा करने की अनुमति देता है। हमने उन्हें ये सुझाव भी दिया कि इसके बजाय, सरकार स्पष्ट रूप से स्कूल प्रबंधन से 50 प्रतिशत शुल्क कम करने के लिए कह सकती है, जब तक कि महामारी नहीं घटती है।

इसे भी पढ़ें :  पेरेंट्स की जेब पर बढ़ने वाला है बोझ! हैदराबाद में प्राइवेट स्कूलों ने की सैनिटेशन फीस की मांग

Related Tweets
Advertisement
Back to Top