हैदराबाद स्थित रिसर्च सेंटर इमारत (RCI) के स्मार्ट एंटी एयरफील्ड वीपन SAAW का सफल परीक्षण

HAL successfully test-fired Smart Anti-Airfield Weapon (SAAW) developed by DRDO RCI  - Sakshi Samachar

हैदराबाद: रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की ओर से विकसित स्मार्ट एंटी एयरफील्ड वीपन (SAAW) विकसित किया गया था। जिसका हॉक-आई एयरक्राफ्ट के जरिये ओडिशा के तट पर सफलता पूर्वक परीक्षण किया गया। बता दें कि DRDO की इकाई रिसर्च सेंटर इमारत यानी RCI ने इस हथियार को विकसित किया है। हैदराबाद RCI द्वारा ये अपनी तरह का पहला हथियार विकसित किया गया हैजिसे भारत में विकसित Hawk-Mk132 के जरिये फायर किया जा सकता है। 

स्मार्ट एंटी एयरफिल्ड वीपन (SAAW) की मारक क्षमता 100 किलोमीटर तक बताई जाती है। ये घातक हथियार 100 किलोमीटर दूर दुश्मन के एयरक्राफ्त को आसानी से नष्ट कर सकता है। इस हथियार का सफल परीक्षण सेवानिवृत विंग कमांडर पी अवस्थी एवं विंग कमांडर एम पटेल ने एयरक्राफ्ट के जरिये किया। डीआरडीओ की ओर से आधिकारिक जानकारी के मुताबिक ये हथियार 125 किग्रा की कैटेगरी में शुमार है। 

रिसर्च सेंटर इमारत (RCI) के बारे में विशेष 

हैदराबाद स्थित Research Centre Imarat (RCI) डॉ एपीजे अब्दुल कलाम मिसाईल कॉम्प्लेक्स में रक्षा शोध की प्राथमिक इकाई है। डीआरडीओ के अंतर्गत आने वाली रिसर्च सेंटर इमारत ने अभी तक कई अहम आयुधों को विकसित करने में मदद की है। खासकर Avionics Systems से जुड़े शोध ने कई हथियारों को अंतिम रूप दिया। RCI की ओर से खासकर कंट्रोल इंजीनियरिंग, नेविगेशन, इंफ्रारेड और मिशन सॉफ्टवेयर पर काफी बेहतर काम हुआ है। 

Advertisement
Back to Top