आर्थिक सहायता को लेकर बाढ़ पीड़ितों में आक्रोश, किया प्रदर्शन

flood victims demonstrate for financial assistance in hyderabad - Sakshi Samachar

बाढ़ पीड़ितों की आर्थिक सहायता के अंतर्गत मंजूर किये गये 40 करोड़ रुपये

बहती गंगा में हाथ धो ले रहे कई नेता

हैदराबाद : सरकार ने बाढ़ पीड़ितों को आर्थिक सहायता घोषित की लेकिन यह सहायता सरकार के लिए सरदर्द बन गई है। जहां-तहां कहा जा रहा है कि वास्तव में बाढ़ पीड़ितों को सहायता नहीं मिली है। इससे लोगों में आक्रोश पैदा हो गया है। 

खैरताबाद निर्वाचन क्षेत्र के बंजारा हिल्स, जुबली हिल्स, वेंकटेश्वरा कॉलोनी, खैरताबाद, सोमाजीगुड़ा और हिमायत नगर डिवीजनों में इस महीने की 22 तारीख को बाढ़ पीड़ितों आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने का काम शुरू हुआ। 

लोगों में आरोप लगाया लाभार्थियों को छोड़ घरमालिकों, नेताओं और टैक्स इंस्पेक्टरों में पीड़ितों की सहायता राशि बांटी जा रही है। रिकॉर्ड में दस हजार रुपये देने की जानकारी दर्ज की जा रही है और हाथ में 5 हजार रुपये थमाये जा रहे हैं। कुछ देर बाद नेता उन लोगों के पास पहुंच कर उनसे 3 हजार रुपये वसूल रहे हैं। इससे लोग प्रदर्शन कर आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं। 

बताया जा रहा है कि एमएस मक्ता, बीएस मक्ता, प्रेम नगर, फिल्म नगर, एमजी नगर, विनायक नगर, बाल रेड्डी नगर, एनबी नगर आदि क्षेत्रों में पीड़ितों ने उनकी सहायता राशि को लेकर आक्रोश जताया। 

खैरताबाद निर्वाचन क्षेत्र में बाढ़ पीड़ितों की आर्थिक सहायता के अंतर्गत 40 करोड़ रुपये मंजूर किये गये। अब तक 35 हजार लोगों को सहायता उपलब्ध कराई गई। रिकॉर्ड में बताया गया कि बाढ़ पीड़ितों की संख्या एक लाख से भी अधिक है। और  दो दिनों तक सहायता उपलब्ध की जाती है तो भी पूरे लोगों को सहायता नहीं मिल पाएगी। महिलाओं का कहना है कि बाढ़ पीड़ितो को छोड़ अन्य लोगों को ही सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। 

इसे भी पढ़ें : 

केंद्रीय दल ने किया हैदराबाद के पुराने शहर के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा, पीड़ितों से की बात

मीरपेट : बाढ़ पीड़ितों को आर्थिक सहायता के तौर यथाशीघ्र सरकार ने 10-10 हजार रुपये की सहायता उपलब्ध कराई है। बाढ़ पीड़ितों के अलावा अन्य लोगों में भी 10-10 हजार रुपये की सहायता बांटी जा रही है। इस दौरान कई नेता बहती गंगा में हाथ धो ले रहे है। मीरपेट कॉरपोरेशन के डिवीजनों में लोगों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराते हुए नेता आधी राशि मिशन फिफ्टी-फिफ्टी का गोरखधंधा कर रहे हैं। 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top