तेलंगाना के इस किसान दंपति का वन्य पशु-पक्षी प्रेम, देखकर आप भी हो जाएंगे मंत्रमुग्ध

Farmer's Love for Wildlife in Jangaon District of Telangana - Sakshi Samachar

आदमी से आदमी की दूरी बढ़ती जा रही है

दुनिया में स्नेह, ममता, मित्रता, प्रेम सब स्वार्थी 

एक किसान दंपति का पशु और पक्षी से अपार प्रेम

आज की दुनिया में स्नेह, ममता, मित्रता, प्रेम सब स्वार्थी चुके हैं। आदमी से आदमी की दूरी बढ़ती जा रही है। मगर जनगांव जिले के लिंगालागणपुरम मंडल के माणिक्यपुरम गांव में एक किसान दंपति का वन्य पशु और पक्षी के प्रति अपार प्रेम हो गया। किसान के इस प्रेम को देखकर सभी को मंत्रमुग्ध हो रहे हैं!

गांव का एक किसान दंपति परिवार गूंगे प्राणियों को अपने गले से लगाकर देखभाल कर रहा है। किसान का यह परिवार दिन में तीन बार इन वन्य पशु और पक्षियों को आहार-पानी दे रहा है। किसान परिवार के प्रेम को देखकर यह जीव भी कहीं पर रहे हर दिन ठीक समय पर उनके सामने उड़ते-चलते आकर हाजिर हो जाते हैं।

मानिक्यपुरम के चौधरीपल्ली उपेंद्र ब्रदर्स का गांव के सीमांत क्षेत्र के खेत में सोमासाई फार्म हाउस है। इस फार्म हाउस में उनका पोल्ट्री फार्म हैं। इस फार्म हाउस में राजू और रजिता दंपति काम करते हैं। हर दिन यह दंपति शेड के पास जाते हैं और मुर्गियों को दाना-पानी करते हैं। इसी क्रम में वहां पर मोर और गिलहरी भी आने लगे।

इसके चलते यह दंपति मुर्गियों के साथ मोर और गिलहरी को भी दाना-पानी देना शुरू कर दिया। मोर और गिलहरी हर दिन शेड के पास आते देख यह दंपती उनसे मित्रता करने लगे। उनके इस मित्रता को देखकर/जानकर स्थानीय लोग और किसान आश्यर्य चकित हो गये और हो रहे हैं। एक मोर तो पांच साल पहले उसके एक नवजात शावक को लेकर फार्म हाउस के पास आया था। तब से अब तक मोर और शावक लगातार आ रहे हैं।

इसके चलते किसान दंपति द्वारा दाना-पानी देते देखकर मोर और उसके शावक की अब अच्छी दोस्ती हो गई है। इतना ही नहीं, अब यह वन्य पशु-पक्षी हर दिन आसपास के किसानों के खेतों में भी बिना किसी डर के घूमते/फिरते हुए हलचल कर रहे हैं। 

इसके अलावा चौधरीपल्ली ब्रदर्स फार्म में अब मुर्गियों के साथ-साथ जंगली मुर्गियां, बतख जैसे विभिन्न प्रकार के वन्य प्राणी और पक्षी भी आने लगे हैं। यह देख किसान दंपति अब उनको को भी दाना-पानी ले रहे हैं।

Advertisement
Back to Top