दिशा केस: एक साल बाद भी महिलाओं की सुरक्षा बड़ा सवाल, 5 मददगार ऐप्स

Crime Rate after a year of Disha Murder Case, 5 Apps for Women Safety - Sakshi Samachar

क्या है राज्य में आपराधिक घटनाओं का रिकॉर्ड

सुरक्षा के लिए इन नंबर्स पर करें डायल

इन 5 ऐप्स के जरिये महिलाएं होंगी सुरक्षित

हैदराबाद: आज दिशा रेप-मर्डर केस (Disha Rape-Murder Case) को एक साल पूरा हो चुका है। ऐसे में तेलंगाना (Telangana) को दिशा कांड (Disha Case) की याद बरबस ही हो आई है। लोग नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की वेबसाइट खंगाल रहे हैं, शायद वे जानना चाह रहे हैं कि आखिर बीते एक साल में तेलंगाना में महिलाओं के प्रति अपराध बढ़े हैं या फिर कम हुए हैं। इसके बावजूद कि कोरोना की वजह से लगभग पूरे साल ही लोग सड़कों पर कम ही नजर आए हैं।

बहरहाल, NCRB की आपराधिक रिकॉर्ड का खाका तो जनवरी तक ही सामने आ पाएगा। लेकिन बीते साल के आंकड़ों पर गौर करें तो 2018 के मुकाबले 2019 में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराध बढ़े। साल 2019 में कुल 18,394 ऐसे मामले दर्ज हुए हैं। जबकि 2018 में 16,027 मामले दर्ज हुए ​थे। 2019 में 2755 मामले पुलिस ने दर्ज किए हैं। सिर्फ हैदराबाद में महिलाओं के खिलाफ 432 आपराधिक मामले दर्ज किए जा चुके हैं।

क्या है राज्य में आपराधिक घटनाओं का रिकॉर्ड

बीते साल तेलंगाना में 20 ऐसे मामले दर्ज हुए, जिनमें महिलाओं के साथ दुष्कर्म के बाद उनकी हत्या कर दी गई। 2019 में 393 ऐसे मामले दर्ज हुए, जिसमें महिलाओं के अपहरण की घटनाएं दर्ज की गईं। बच्चों के साथ अपराध को लेकर भी ऐसा ही ट्रेंड दिखा था।

NCRB डाटा के मुताबिक, अलग अलग 55 घटनाओं में 77 महिलाओं के साथ दुष्कर्म की रिपोर्ट सामने आई है। 2018 में कुल ऐसे मामले 3747 सामने आए जबकि 2019 में कुल 4212 मामले सामने आए। इस एक साल में महज हैदराबाद में दर्ज मामलों में 15 का इजाफा दिखा।

सुरक्षा के लिए इन नंबर्स पर करें डायल

दिशा केस को आज पूरे एक साल बीतने के बाद महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में हम यह बताना चाहते हैं कि इस बीच तेलंगाना सरकार ने महिला सुरक्षा को ध्यान में रखकर कुछ डायल नंबर्स शुरू किए थे। ये इस प्रकार हैं—

POLICE    100
WOMEN HELPLINE NUMBER    181
CYBER CRIME POLICE STATION    040-27852412

अगर आप देर रात कहीं फंस जाती हैं या फिर आपको तेलंगाना पुलिस की मदद की जरूरत महसूस हो रही है तो परेशान न हों। ये नंबर डायल करें। तेलंगाना पुलिस आपकी सेवा में तत्पर होगी।

इन 5 ऐप्स के जरिये महिलाएं हो सकती हैं सुरक्षित

इसके अलावा ​तेलंगाना सरकार ने महिला सुरक्षा को ध्यान में रखकर ये 5 ऐप्स भी तैयार किए थे। आप अपने मोबाइल पर इन ऐप्स को डाउनलोड कर लें और इनका उपयोग करना सीख लें ताकि जरूरत पड़ने पर इनका प्रयोग करना आपको मालूम हो।

 1. Hawk Eye – Telangana Police

यह ऐप हैदराबाद पुलिस की आईटी सेल ने तैयार किया है। इसे ‘Women Travel Made Safe’ के गुणों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया था। खासकर वैसी महिलाओं को ध्यान में रखकर, जो देर रात अकेले यात्रा करती हैं।इसके तहत ऐसी महिलाओं को संबंधित गाड़ी की फोटो या वीडियो, उसका नंबर और जहां से गाड़ी ले रही हैं और जहां जाना है, इससे संबंधित पूरी डिटेल ऑनलाइन पुलिस तक भेज देना है। गंतव्य तक पहुंचने के बाद ​महिलाएं इस सफर से जुड़े अपने अनुभव भी इस ऐप पर भेज सकती हैं। आपातकालीन स्थिति में SOS Button का इस्तेमाल करके महिला यात्री पुलिस तक अलर्ट मैसेज भेज सकती हैं।

2. Himmat

महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए दिल्ली पुलिस ने हिम्मत ऐप लॉन्च किया था। दिल्ली की महिलाओं को खासतौर पर इसके इस्तेमाल की सलाह दी गई थी। इसे डाउनलोड करने या रजिस्टर करने के दौरान यदि महिलाओं को किसी भी तरह की समस्या हो रही हो तो SOS alert message सीधे भेजकर अपनी मौजूदा लोकेशन और आसपास का ऑडियो वीडियो बनाकर सारी जानकारी दिल्ली पुलिस कंट्रोल रूम तक पहुंचा सकते हैं। इससे नजदीकी पुलिस स्टेशन को सारी जानकारी पहुंच जाएगी और जरूरतमंद महिला तक समय पर मदद पहुंचाई जा सकेगी।

3. My Safetipin

My Safetipin महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखकर तैयार की गई है। विशेषकर रात में कौन सा इलाका सुरक्षित है और कौन सा असुरक्षित, इसे ध्यान में रखकर ही यह ऐप तैयार किया गया है ताकि महिलाओं को इसका ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके। इस ऐप को भीड़भाड़, सुरक्षा, रौशनी, विजिबिलिटी, पैदल पथ, पब्लिक ट्रांसपोर्ट और पिन्स जैसी कई बातों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। मैप में रेड पिन दर्शाता है कि ये क्षेत्र असुरक्षित हैं, ग्रीन कलर सुरक्षित स्थान के लिए है और एंबर कलर कम सुरक्षित जगहों के लिए है। जब भी एक महिला किसी असुरक्षित स्थान तक पहुंचती है तो ऐप उन्हें अलर्ट जारी कर देती है। इसके बाद महिला अपना लाइव लोकेशन आपातकालीन नंबर्स को भेज सकती हैं।

4. bSafe

bSafe एक ऑलराउंडर सुरक्षा ऐप है, जो ‘Never Walk Alone’ टैगलाइन के साथ काम करती है। इस ऐप में कई बेहतरीन फीचर्स उपलब्ध हैं, जिनमें ‘bSafe alarm’ भी एक है। इसके जरिये आप अपना लोकेशन और आसपास के लोकेशन का ऑडियो-वीडियो बनाकर भेज सकते हैं। ‘Follow Me’ enable करके महिला अपना GPS tracking लोकेशन संबंधित लोगों को भेज सकती हैं।  किसी भी असामान्य स्थिति को ध्यान में रखते हुए ‘Fake Call’ का इस्तेमाल करके महिलाएं ऐसी किसी भी परिस्थिति से बाहर निकलने के लिए इसका प्रयोग कर सकती हैं। ‘Timer Alarm’ आपको इस बात की सहमति देता है कि आप अपना लोकेशन अपने परिवार के सदस्यों तक पहुंचा सकें।

5. VithU: V Gumrah Initiative

VithU एक आपातकालीन ऐप है जो कि Channel V ने एक शो को प्रमोट करने के लिए शुरू किया था। यह ऐप स्मार्टफोन का पावर बटन दो बार दबाकर ही एक्टिवेट किया जा सकता है। इसके बाद SOS message ‘I am in danger. I need help. Please follow my location’ के जरिये संबंधित लोगों को अलर्ट मैसेज भेज सकते हैं। यह मैसेज हर रोज मिनट में यूजर के अपडेटेड लोकेशन के साथ संबंधित लोगों तक पहुंचा दिया जाएगा।

Advertisement
Back to Top