हैदराबाद में बड़े पैमाने पर कोरोना टेस्टिंग की तैयारी, लोगों तक पहुंचेंगे टेस्टिंग व्हीकल

covid 19 samples to be-tested-large scale in hyderabad - Sakshi Samachar

तेलंगाना में अब व्यापक कोरोना टेस्टिंग की तैयारी 

जानिए क्या कहते हैं स्वास्थ्य विभाग के अघिकारी?

हैदराबाद: शहर में कोरोना वायरस के सेकंड वेव के खतरे को देखते हुए बड़े पैमाने पर टेस्टिंग की तैयारी की जा रही है। इसके लिए हैदराबाद के विभिन्न इलाकों में Covid 19 Mobile Testing Vehicles की तैनाती होगी। तेलंगाना स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इन चलंत गाड़ियों (Mobile Vehicles) के जरिए शुरुआत में रोजाना पंद्रह हजार कोरोना वायरस टेस्टिंग का टारगेट रखा गया है। फिलहाल इन मोबाइल वैन्स के जरिए 5000 रोजाना कोरोना वायरस के टेस्ट किये जा रहे हैं। 

तेलंगाना सरकार कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए अब टेस्टिंग पर जोर दे रही है। हर रोज कम से कम 60 हजार कोरोना वायरस टेस्टिंग का लक्ष्य रखा गया है। पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट के निदेशक डॉ जी श्रीनिवास राव के मुताबिक ऑटो चालक सामाजिक दूरी का खयाल नहीं रख रहे हैं। हम उन जगहों पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं जहां लोगों की भीड़ इकट्ठा होती है। हालांकि डॉ राव ने कैब ड्राइवर्स की सराहना की, जो कोरोना के खतरे को लेकर एहतियात बरत रहे हैं। 

कोरोना टेस्टिंग के लिए चलंत गाड़ियों की तैनाती

फिलहाल 310 कोरोना मोबाइल टेस्टिंग वैन्स काम पर लगे हैं। इनमें 300 के करीब गाड़ियां राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम से पहले जुड़ी थी। फिलहाल स्कूलों के बंद होने के चलते इन गाड़ियों का इस्तेमाल कोरोना वायरस टेस्टिंग के लिए किये जा रहे हैं। खासकर GHMC और रंगारेड्डी जिले में इन चलंत गाड़ियों की सक्रियता अधिक है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने इस बात पर संतोष जाहिर किया कि दशहरा और बतुकम्मा के बावजूद कोरोना संक्रमण के मामलों में अधिक बढोत्तरी नहीं हुई है। बावजूद इसके जनवरी तक एहतियात बरतने की बात अधिकारी कहते हैं। 

तेलंगाना में रिकवरी रेट बेहतर 

कोरोना संक्रमण को लेकर तेलंगाना में रिकवरी रेट 91.85% है। 15 हजार के करीब लोग अभी आइसोलेशन में है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी संतोष जाहिर करते हैं कि निजामाबाद में कोरोना संक्रमित माता ने तीन बच्चों को जन्म दिया। सरकारी व्यवस्था के तहत उनकी देखरेख की गई और वे सभी फिलहाल स्वस्थ हैं। मतलब साफ है कि अधिकारी बताने से नहीं चूक रहे कि तेलंगाना के सरकारी अस्पतालों में मरीजों का खयाल रखा जा रहा है। 

हैदराबाद में सेकंड वेव की पुष्टि नहीं

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने हैदराबाद में कोरोना संक्रमण के सेकंड वेव की पुष्टि नहीं की है। ये जरूर है कि अधिकारी एहतियात बरतने की सलाह देते हैं, साथ ही संक्रमण बढ़ने की आशंकाओं से इनकार भी नहीं करते। बढ़ते ठंड के साथ तेलंगाना में भी कोरोना का संक्रमण खतरनाक स्तर को छू सकता है। लिहाजा आम लोगों से भी अपील की जा रही है कि वे जारी दिशानिर्देशों का पालन करें। 

Advertisement
Back to Top