कोरोना पॉजिटिव मरीजों में 40 साल से कम उम्र के मरीजों की संख्या बढ़ी, ज्यादातर मौतें साइकोसिस से हुई

Corona positive patients increased in number of patients under 40 years in telangana - Sakshi Samachar

तेलंगाना में कोविड टेस्ट करनेवालों लोगों में 56 प्रतिशत युवा शामिल हैं

53.87 प्रतिशत मरीजों की अन्य बीमारियों के कारण मौत हुई है

हैदराबाद : तेलंगाना में कोविड पॉजिटिव मामलों की संख्या बड़े पैमाने पर होने के बावजूद मृत्यू दर राष्ट्रीय स्तर पर बहुत ही कम है। राज्य में अब तक कोरना संक्रमित 551 मरीजोंकी मौत हुई है। यह मृत्यू दर 0.81 है जो राष्ट्रीय औसतन मृत्यू दर 2.13 से कम है। 

तेलंगाना में कोविड टेस्ट करनेवालों लोगों में 56 प्रतिशत युवा शामिल हैं। इन युवाओं की उम्र ज्यादातर 40 साल से कम है। हालही में दर्ज कोरोना पॉजिटिव मामलों में लगभग 25 प्रतिशत लोग 31 से 40 वर्ष के आयुवाले हैं। कुल मामलों में 22.1 प्रतिशत मामले 10 से 13 वर्ष के भीतर आयुवाले हैं तो 11 से 10 वर्ष के आयुवाले 5.3 प्रतिशत मरीज हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निदेशक जी श्रीनिवास राव ने बताया कि 10 वर्ष से कम आयुवाले केवल 3.4 प्रतिशत मरीज हैं। 

श्रीनिवास राव ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव मामलों में 18.6 प्रतिशत लोग 41 से 50 वर्ष की आयुवाले हैं और 14.7 प्रतिशत 51 से 60 वर्ष के आयुवाले मरीज हैं। यानी लगभग 89 प्रतिशत कोविड पॉजिटिव मरीजद 60 वर्ष से कम उम्रवाले हैं।

तेलंगाना में कोविड पॉजिटिव के मामले में पुरुषों की संख्या 65.6 है और शेष महिलाएं हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि कोरोना पॉजिटिव मामलों में युवाओं का प्रतिशत अधिक क्यों है? बताया गया कि लॉकडाउन के दौरान युवाओं की बढ़ती गतिविधियों के कारण युवा मरीजों की संख्या बढ़ी है।

लोगों का कहना है कि कोविड संक्रमित मरीजों के अलावा अन्य रोगों से पीड़ित लोगों की संख्या भी मरीजों में शामिल है। कई लोग कैंसर, अस्थमा, कोरोनरी बीमारी, डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि कोविड संक्रमण से कुल मरीजों में 46.13 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हुई है और 53.87 प्रतिशत मरीजों की अन्य बीमारियों के कारण मौत हुई है।  

तेलंगाना के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री इटेला राजेंदर ने वरिष्ठ डॉक्टरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। इस दौरान उन्होंने बताया कि तेलंगाना में ज्यादातर मौतें साइकोसिस की वजह से हुई है। उन्होंने डॉक्टरों से मनोवैज्ञानिक डॉक्टर के सहयोग से सेशन आयोजित करने और लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और लोगों में विश्वास जगाना जरूरी है। 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top