तेलंगाना में सफर हो सकता है महंगा, बढ़ सकता है RTC बसों का किराया

CM KCR Meeting Over TSRTC Financial Condition - Sakshi Samachar

तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम ने दी रिपोर्ट

मुख्यमंत्री केसीआर के साथ प्रगति भवन में हुई मीटिंग

टीएसआरटीसी ने बस के किराए में बढ़ोतरी के संकेत दिए

हैदराबाद : आने वाले समय में तेलंगाना (Telangana) के अंदर बसों से सफर करना महंगा हो सकता है। तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (टीएसआरटीसी) ने बस के किराए में बढ़ोतरी के संकेत दिए हैं। लगातार नुकसान झेल रहे टीएसआरटीसी (TSRTC) के लिए बसों का संचालन करना मुश्किल हो रहा है। हालांकि यह भी कहा गया कि पहले के मुकाबले अब स्थिति में सुधार है, लेकिन परिवहन निगम अभी भी काफी घाटे में है।

टीएसआरटीसी पर प्रगति भवन में गुरुवार को एक हाई लेवल मीटिंग हुई। बैठक में अधिकारियों ने मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (केसीआर) को आरटीसी की वर्तमान परिस्थिति के बारे में जानकारी दी। अधिकारियों ने कहा कि डीजल दर में भारी बढ़ोतरी, कोरोना के चलते लॉकडाउन, बीते सालों में ऋण बकाया राशि आदि कारणों के चलते निगम को लगातार नुकसान हो रहा हैष

अधिकारियों ने कहा कि आरटीसी कर्मचारियों का वेतन अगर बढ़ाया गया तो निगम पर आर्थिक बोझ और बढ़ेगा। इस परिस्थिति में सरकार की ओर से बड़े पैमाने पर सहायता उपलब्ध करने के अलावा बस किराए को बढ़ाने जैसे कदमों से ही आरटीसी पर जो आर्थिक बोझ है वह कम किया जा सकता है।

अधिकारियों ने बताया कि पिछली बार जब बस किराया बढ़ाया गया था, तब डीजल की दर प्रति लीटर 67 रूपये थी। बहुत कम समय में डीजल की कीमत में करीब 15 रूपये की बढ़ोतरी हुई है। इससे आरटीसी पर अलग बोझ पड़ा है। कोविड-19 के कारण राज्य में लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान भी बस सेवाओं को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा। पहले से ही बकाया राशि की समस्या है, ऐसी परिस्थिति में अगर कर्मचारियों का वेतन बढ़ाया जाएगा तो अत्यधिक बोझ पड़ेगा।

समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा कि आरटीसी कार्गो सेवा सफल है। कार्गो सेवाओं द्वारा निगम को 22.61 करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ है। जनता कार्गो सेवाओं से संतुष्ट है। उन्होंने इसी से प्रेरणा लेकर जनता को और बेहतर सेवाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। समीक्षा बैठक में परिवहन मंत्री पुव्वाड़ा अजय कुमार सरकार, मुख्य सचिव उमेश कुमार के अलावा अन्य अधिकारियों ने शिरकत की।

Advertisement
Back to Top