तेलंगाना : गरमाया दुब्बाका उपचुनाव प्रचार, एक दूसरे पर लगा रहे हैं ऐसे आरोप

Telangana: Dubbaka by-election campaign continues - Sakshi Samachar

सबकी नजरें तेलंगाना के दुब्बाका निर्वचान क्षेत्र के उपचुनाव की ओर

एक दूसरे की कड़ी आलोचना करके चुनावी  प्रचार में गर्मी पैदा कर दी

हैदराबाद/सिद्दीपेट: दुब्बाका उपचुनाव सभी राजनीतिक दलों में गहमा-गहम प्रचार जारी है। इस समय सबकी नजरें तेलंगाना के दुब्बाका निर्वचान क्षेत्र के उपचुनाव की ओर हैं। इसके चलते सभी दलों के नेता अपनी-अपनी शक्ति का प्रदर्शन करने में जुटे हैं। एक दूसरे की कड़ी आलोचना करके चुनावी  प्रचार में गर्मी पैदा कर दी है। 

दुब्बाका चुनाव प्रचार अभियान काफी तेज हो गया है। कांग्रेस और भाजपा नीतियों की टीआरएस आलोचना कर रही है। वहीं विपक्षी दलों के नेता टीआरएस के साथ-साथ मंत्री हरीश राव की भी आलोचना कर रहे हैं। इस तरह एक दूसरे की जमकर आलोचना कर लेने से दुब्बाका उपचुनाव प्रचार गर्माया गया है।

टीआरएस के नेताओं ने कांग्रेस और भाजपा पर गलत प्रचार करने का आरोप लगा रहा है। टीआरएस के नेता प्रचार कर रहे हैं कि दुब्बाका निर्वाचन क्षेत्र में 20,000 से अधिक बीड़ी श्रमिकों को पेंशन मिल रही है। टीआरएस नेता और मंत्री हरीश राव यह भी कह रहे है कि मुख्यमंत्री केसीआर इसी निर्वाचन क्षेत्र के है। महिलाओं और बीड़ी श्रमिकों की दुर्दशा देखी है। इसीलिए उन्हें 2,000 रुपये प्रति माह पेंशन दे रहे हैं।

इसी क्रम में बीजेपी नेता प्रचार कर रहे हैं कि केंद्र सरकार यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीड़ी श्रमिकों के  दिये जाने वाले पेंशन में 1,600 रुपये दे रहे हैं। भाजपा नेता यह भी प्रचार कर रहे हैं कि केंद्र सरकार अन्य योजनाओं के लिए भी तेलंगाना को पैसा दे रही है। सोशल मीडिया पर इस बात का व्यापक प्रचार किया जा रहा है। ताकि महिलों और बीड़ी श्रमिकों  के वोट बीजेपी को मिल सके।
  
दूसरी ओर टीआरएस के नेता प्रचार कर रहे है कि भाजपा नेताओं का पेंशन और अन्य योजनाओं के लिए पैसे देने का आरोप झूठ है। इसी तरह कांग्रेस के नेता कह रहे है कि कांग्रेस पार्टी से ही तेलंगाना राज्य गठन हो पाया है। दुब्बका निर्वाचन क्षेत्र विकास पूर्व मंत्री मुत्यम रेड्डी ने किया है। इसी क्रम में बीजेपी नेता कह रहे है कि भाजपा से ही पृथक तेलंगाना गठन संभव हो पाया है।

Advertisement
Back to Top