पोतिरेड्डीपाडू परियोजना के विरोध में तेलंगाना कांग्रेस 2 जून को धरना प्रदर्शन करेगी

telangana congress will protest on 2nd june against pothireddypadu project - Sakshi Samachar

पोतिरेड्डीपाडू परियोजना में जल भंडारण क्षमता बढ़ेगी

तेलंगाना में बिजली  उत्पादन प्रभावित हो सकता है

हैदराबाद : पोतिरेड्डीपाडू परियोजना की जलजमाव क्षमता बढ़ाई जाती है तो तेलंगाना को बिजली समस्या से जूझना पड़ेगा। आंध्र प्रदेश सरकार के शासनादेश 203 के मुताबिक पोतिरेड्डीपाडू परियोजना में जलजमाव की क्षमता बढ़ती है तो श्रीशैलम परियोजना में एक बूंद का जमाव नहीं होगा। इससे बिजली उत्पादन प्रभावित हो सकता है। 

तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) के कार्यकारी अध्यक्ष और मलकाजगिरी के सांसद रेवंत रेड्डी ने कहा कि पोतिरेड्डीपाडू परियोजना में जल भंडारण क्षमता बढ़ती है तो श्रीशैलम के साथ नागार्जुन सागर  और पुलिचिंतला बिजली प्लांटों में भी उत्पादन प्रभावित होगा। इसका खामियाजा तेलंगाना को भुगतना पड़ सकता है। तेलंगाना को अंधेर में रहने नौबत आ सकती है। 

इसे भी पढ़ें :

सिंचाई परियोजनाओं को लेकर हमसे नहीं सीएम KCR से पूछो : मल्लू रवि

श्रीशैलम, नागार्जुन सागर और पुलिचिंतला में रूक सकता बिजली उत्पादन 

आपको बता दें कि संयुक्त आंध्र प्रदेश के समय तेलंगाना में 54 प्रतिशत बिजली उत्पादन का उपयोग होता था और इसके अनुसार तेलंगाना को पानी का हिस्सा मिलता था। अब अगर श्रीशैलम, नागार्जुन सागर और पुलिचिंतला बिजली उत्पादन केंद्र में उत्पत्ति रूक जाती है तो बिजली आपूर्ति नहीं हो सकेगी। उन्होंने इस विषय पर बिजली उत्पादन क्षेत्र के विशेषज्ञों को आगे आने की अपील की। गौरतलब है कि पोतिरेड्डीपाडू परियोजना के विरोध में 2 जून को सिंचाई परियोजनाओं के निकट तेलंगाना कांग्रेस के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन किया जायेगा।

Advertisement
Back to Top