तेलंगाना में हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया जाये : रेवंत रेड्डी

revanth reddy open letter to cm kcr over coronavirus - Sakshi Samachar

तेलंगाना में हेल्थ इमरजेंसी लागू हो

ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति अपनाये

हैदराबाद : मलकाजगिरी सांसद रेवंत रेड्डी ने तेलंगाना में हेल्थ इमरजेंसी लागू करने की सरकार से मांग की है। सांसद ने रविवार को मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) को खुला पत्र लिखा हैं। उन्होंने पत्र में लिखा है कि सीएम केसीआर ने हमारे पार्टी के सांसदों को केंद्रीय दल से नहीं मिलने के लिए दबाव डाला है। ज्यादा होशियारी बंद करके अब तो भी कोरोना नियंत्रण के लिए केसीआर की सरकार आवश्यक कदम उठाये।

रेवंत रेड्डी ने आगे कहा, "तेलंगाना में नाम मात्र कोरोना के टेस्टिंग किये जाने पर ही 32.1 फीसदी पॉजिटिव मामले दर्ज हो रहे हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण किस हद तक पार कर गया है। सरकार कोरोना संक्रमित वीआईपी को अधिक प्रमुखता दे रही है। मगर गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों के प्राणों के साथ खिलवाड़ कर रही है। तेलंगाना के लोग अब सरकारी अस्पताल जाने के बजाये श्मशान वाटिका जाना पसंद करने की स्थिति आ गये हैं। कांग्रेस विधायक सीतक्का ने विधानसभा में कोरोना नियंत्रण के लिये सुझाव दिये तो सत्तापक्ष के नेताओं ने उनकी खिल्ली उड़ाई हैं।"

ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति

सांसद ने कहा कि तेलंगाना के कुछ मंत्रियों ने कोरोना नियंत्रण के लिए पेरासिटामोल टैबलेट और गरम पानी पीने से कोरोना कम होने का गैर जिम्मेदाराना बयान देकर लोगों को गुमराह किया है। सरकार ने टीम्स अस्पताल को लेकर केवल हंगामा किया गया। मगर अब तक उसका शुभारंभ क्यों नहीं किया गया है बतायें? हमने कोरोना नियंत्रण के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति अपनाने का सुझाव दिया है। मगर सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है।

यह भी पढ़ें :

तेलंगाना में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति के लिए टीआरएस सरकार की जिम्मेदार : TPCC

रैतु बंधु

दूसरी ओर रेवंत रेड्डी रविवार को जारी ट्वीट पोस्ट में कहा कि पिछले चुनाव में कांग्रेस पार्टी को वोट डालने के कारण लक्ष्मापुर गांव वालों का रैतु बंधु की रकम रोक दी गई है।

Advertisement
Back to Top