घाटे के बजट वाले एपी में कोरोना आरोग्यश्री में शामिल, अधिशेष बजट वाले तेलंगाना में क्यों नहीं? : मंदा

manda krishna madiga slams kcr over aarogyasri issue - Sakshi Samachar

मुख्यमंत्री केसीआर सामंति शासन 2023 तक समाप्त

दलितों को धोखा देने वाले मुख्यमंत्री केसीआर

वरंगल अर्बन (तेलंगाना) : मादिगा रिजर्वेशन पोराटा समिति (एमआरपीएस) के संस्थापक अध्यक्ष मंदा कृष्ण मादिगा ने कहा कि मुख्यमंत्री केसीआर के रूप में चल रहे सामंति वर्ग का शासन 2023 तक समाप्त हो जाएगा। गुरुवार को यहां आयोजित मीडिया सम्मेलन में यह बात कही। इस दौरान उन्होंने याद दिलाया कि 'तेलंगाना तल्ली' पुस्तक में मैंने लिखा है कि साल 2023 में केसीआर दलितों को धोखा देने वाले मुख्यमंत्री साबित हो जाएंगे।

मंदाकृष्णा ने कहा कि केसीआर ने विधानसभा में घोषणा की है कि वह एक सामंति (दोरा) है। उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक दल मांग कर रहे है कि कोरोना को आरोग्यश्री में शामिल किया जाये। तेलंगाना सरकार अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। उन्होंने कहा कि घाटे के बजट में चल रहे आंध्र प्रदेश सरकार ने कोरोना को आरोग्यश्री में शामिल किया है। उन्होंने सवाल किया कि अधिशेष बजट वाले तेलंगाना सरकार ने कोरोना को आरोग्यश्री में शामिल क्यों नहीं किया है?

एमआरपीसी के अध्यक्ष ने कहा कि केसीआर के बात को ठुकराकर कोरोना संक्रमित विधायकों का निजी अस्पतालों में इलाज करवा ले रहे हैं। राजनीतिक रूप से केसीआर को जल्द भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। मंदा कृष्णा ने केसीआर से सवाल किया कि छह साल के शासनकाल में दलितों और आदिवासियों को भूमि वितरण क्यों नहीं किया है?

Advertisement
Back to Top