कोरोना की रोकथाम में आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराने की बजाय दीया जलाने पर वामदल का सवाल

Left Parties question will Epidemic Crisis be Avoided by lighting lamp - Sakshi Samachar

वाम दलों का केंद्र को सवाल

हाथ में मोमबत्ती धरना अजीब बात है

राष्ट्रीय आपदा के दौरान राजनीति करना योग्य नहीं

हैदराबाद : वाम पार्टियों के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रविवार को रात 9 बजे लाइट बूझा कर दीया जलाने की बात पर कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम में आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराने की बजाय 9 मिनट तक दीया जलाने को कहना अजीब बात है।

लोगों और वाम पार्टियों के नेताओं ने कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर केंद्र को अभी तक हर कदम पर सहयोग दिया है। राष्ट्रीय आपदा से निपटने के लिए वाम पार्टियों नेता केंद्र के साथ हैं। उन्होंने सवाल किया कि रविवार की रात 9 बजे 9 दीप जलाने से क्या महामारी कोरोना वायरस का संकट टलेगा?

इसे भी पढ़ें :

कोरोना लॉकडाउन का असर हैदराबाद के चूड़ी उद्योग पर, काम बंद होने से परेशान मजदूर

डॉक्टरों की लापरवाही ने ली शादनगर कोविड -19 मरीज की जान, ये है पूरा मामला

सीपीआई के चाडा वेंकट रेड्डी, सीपीएम के तम्मिनेनी वीरभद्रम और सीपीआई (एमएल) और न्यू डेमोक्रासी के दो ग्रुप के नेताओं संयुक्त रूप से कहा कि वर्तमान में राष्ट्रीय आपदा के दौरान राजनीति करना योग्य नहीं है। वाम पार्टियों के नेताओं का कहना है कि अचानक लॉकडाउन होने से सभी वर्ग के लोगों को मुख्य रूप से कर्मचारियों और दिहाडी मजदूरों का जीना दूभर हो गया है। 

 

Advertisement
Back to Top