भाजपा अपना रही है गैरजिम्मेदाराना रवैया : मंत्री इटेला

 Etela Rajender Slams on BJP for Markaz - Sakshi Samachar

दिल्ली में मरकज की बैठक के लिए अनुमति

व्यक्तियों की पहचान कर चिकित्सा जांच

हैदराबाद : तेलंगाना में जाति-मतभेद की राजनीति नहीं चलेगी। विश्व स्तर पर कोरोना वायरस का फैलाव हो रहा है। दिल्ली में मरकज की बैठक आयोजित करने के लिए भाजपा ने अनुमति दी थी। इस बात को भाजपा को नहीं भूलना चाहिए। देश की राजधानी दिल्ली में  कानून व्यवस्था बनाये रखने की जिम्मेदारी केंद्र की है। 

तेलंगाना के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री इटेला राजेंदर ने सवाल किया कि दिल्ली में मरकज की बैठक के लिए अनुमति कैसे दी गई? भाजपा गैरजिम्मेदाराना तरीके से कार्य कर रही है। बीते दिनों तेलंगाना के दौरे पर आये केंद्रीय दल से प्रदेश भाजपा के नेताओं ने शिकायत की थी। इस पर इटेला भाजपा पर भड़क उठे। 

मंत्री ने कहा कि कोरोना की रोकथाम को लेकर राज्य सरकार कारगर कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि प्रतिपक्ष का एक दल जहां एक ओर राजनीति कर रहा है तो दूसरी ओर अन्य एक दल जाति-मतभेद की राजनीति कर रहा है। उन्होंने याद दिलाया कि इंडोनेशिया से करीमनगर आये व्यक्तियों की पहचान कर उनकी चिकित्सा जांच की गई और तेलंगाना सरकार ने ही मरकज की घटना से देश को अवगत कराया। 

इसे भी पढ़ें :

तेलंगाना में भवन निर्माण मजदूरों के प्रति राज्य का नहीं बदल रहा रवैया : बंडी संजय

इटेला राजेंदर ने कहा कि इंडोनेशिया से करीमनगर आये व्यक्तियों का टेस्ट करने से देश की होने वाली बड़ी क्षति को तेलंगाना सरकार ने रोका है। ऐसा करने से कोरोना वायरस के अधिक तर पॉजिटिव मामले हैदराबाद में रहे हैं। मरकज से आये 1,244 और उनके साथ आये 10 हजार लोगों का कोरोना टेस्ट कर संक्रमण की रोकथाम की है। उन्होंने कहा कि मरकज जाकर वापस लौटने वालों को पकड़ने के लिए घर जाने पर पुलिस और चिकित्सा कर्मचारियों के साथ अधिकारियों पर हमले किये गये। इसके वाबजूद उन्हें धरदबोचा गया। उन्होंने स्पष्ट किया कि राज्य में 90 प्रतिशत मामले मरकज से जुड़े हुये हैं। 
 

Advertisement
Back to Top