पहले मैच में 6 विकेट लेने वाले सुदीप त्यागी ने क्रिकेट को कहा अलविदा, धोनी को कहा 'शुक्रिया'

Sudeep Tyagi Retires From All Formats Of Cricket - Sakshi Samachar

सुदीप का क्रिकेट करियर

पहला मैच बना चर्चित

नई दिल्ली : भारत के पूर्व तेज गेंदबाज सुदीप त्यागी ने मंगलवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की। त्यागी ने चार वनडे खेले जिसमें उन्होंने तीन विकेट हासिल की। इसके अलावा 33 साल के खिलाड़ी ने एक टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेला।

सुदीप त्यागी ने संन्यास का ऐलान करते हुए एक भावुक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा, ‘अभी तक जो मैंने फैसले किये, उसमें यह सबसे मुश्किल था जो अपने सपने को ‘गुडबॉय’ कहना है। मैंने वह हासिल किया जो हर खिलाड़ी का सपना होता है जो देश का प्रतिनिधित्व करना है।’

सुदीप का क्रिकेट करियर

सुदीप त्यागी ने 2009 में भारत के लिए डेब्यू किया था। जबकि आईपीएल में वो चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद के लिये भी खेले। उन्होंने आईपीएल में दोनों टीमों की तरफ से मिलाकर 14 मैच खेले थे। वो आईपीएल के दो सत्र 2009 और 2010 में खेले थे। सुदीप त्यागी ने 41 प्रथम श्रेणी मैचों में 109 विकेट हासिल किये, वह 23 लिस्ट ए मैचों (31 विकेट) में भी खेले।

पहला मैच बना चर्चित

इस तेज गेंदबाज के शुरुआती दो मुकाबले, दोनों ही चर्चित रहे। जब उन्होंने घरेलू क्रिकेट करियर का आगाज किया था, तब पहले ही मुकाबले में उत्तर प्रदेश की तरफ से खेलते हुए ओडिशा के खिलाफ 6 विकेट लेकर सबका दिल जीत लिया था। उस डेब्यू सीजन में सर्वाधिक 41 विकेट लेकर वो छा गए थे। 

उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 2009 की घरेलू वनडे सीरीज के पांचवें व अंतिम मैच में डेब्यू किया था। दिल्ली के मैदान पर खेले गए उस मैच में वो एक विकेट ले चुके थे लेकिन तभी मैच में तब हंगामा हो गया जब गेंद की उछाल देखकर सब दंग रह गए। इस पिच को खेलने के लिए अयोग्य घोषित करते हुए मैच रद्द करना पड़ा था।

इसे भी पढ़ें :

आकाश चोपड़ा बोले- मेगा ऑक्शन होता है तो धोनी को CSK से रिलीज कर देना चाहिए

 IPL 2021 में महेंद्र सिंह धोनी नहीं होंगे CSK के कप्तान !

धोनी को कहा शुक्रिया

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘मैंने वह हासिल किया जो हर खिलाड़ी का सपना होता है जो देश का प्रतिनिधित्व करना है। '' त्यागी ने कहा, ‘‘मैं महेंद्र सिंह धोनी का शुक्रिया करना चाहता हूं जिनके नेतृत्व में मैं अपना वनडे खेला था। मैं अपने आदर्श मोहम्मद कैफ, आरपी सिंह और सुरेश रैना का भी शुक्रिया करना चाहूंगा। क्रिकेट को अलविदा कहना बहुत मुश्किल है लेकिन आगे बढ़ने के लिये हमें ऐसा करना पड़ता है। '' 

Advertisement
Back to Top