थाईलैंड ओपन में खत्म हुआ ड्रामा, पहले बाहर करने के बाद साइना-प्रणॉय को मिली खेलने की इजाजत

 Saina-Prannoy Cleared To Play Thailand Open After Antibody Tests - Sakshi Samachar

बैंकॉक : भारतीय शटलर साइना नेहवाल और एचएस प्रणय को मंगलवार को पहले कोविड-19 के लिये पॉजीटिव पाया गया लेकिन इसके कुछ घंटों बाद ही उनका अगला परीक्षण नेगेटिव आ गया, जिससे इन दोनों का थाईलैंड ओपन में खेलने का रास्ता भी साफ हो गया। 

पहले इस टूर्नामेंट से उन्हें बाहर कर दिया गया था। विश्व बैडमिंटन महासंघ (बीडब्ल्यूएफ) और भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) ने इस घटनाक्रम की पुष्टि की। बीएआई ने बयान में कहा, ‘‘साइना नेहवाल और एचएस प्रणय का कोविड-19 के लिये किया गया चौथे दौर का परीक्षण नेगेटिव आया है और इन दोनों शटलर को योनेक्स थाईलैंड ओपन में भाग लेने की स्वीकृति मिल गयी है। '' 

भारतीय संघ ने कहा कि उसने यह मामला बीडबल्यूएफ के सामने रखा जिसके बाद इन खिलाड़ियों का खेलना सुनिश्चित हो पाया। राष्ट्रीय संघ ने कहा, ‘‘बीएआई ने यह मसला बीडब्ल्यूएफ के शीर्ष अधिकारियों के सामने रखा कि अगर परीक्षण नेगेटिव आये हैं तो संबंधित खिलाड़ियों के मैचों का कार्यक्रम फिर से तय किया जाना चाहिए और किसी खिलाड़ी को वाकओवर नहीं मिलना चाहिए। '' 

इससे पहले दिन में साइना का कोविड-19 के लिये किया गया परीक्षण पॉजीटिव आने के बाद उन्हें टूर्नामेंट से बाहर कर दिया गया था जबकि प्रणय का मामला अधर में लटक गया था क्योंकि उनका एक परीक्षण पॉजीटिव आने के बाद अगला परिणाम नेगेटिव आ गया था। राष्ट्रमंडल खेलों के पूर्व चैंपियन पारूपल्ली कश्यप को भी अपनी पत्नी और साथी खिलाड़ी साइना के साथ करीबी संपर्क के कारण टूर्नामेंट से हटने को बाध्य होना पड़ा था। लेकिन साइना और प्रणय को मंजूरी मिलने से भारतीयों के लिये दिन का अंत अच्छा रहा। 

बीडब्ल्यूएफ ने कहा, ‘‘विश्व बैडमिंटन महासंघ और थाईलैंड बैडमिंटन संघ पुष्टि करते हैं कि एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर के एशियाई चरण में दिन के शुरू में कोविड-19 के लिये पॉजीटिव पाये गये चार में से तीन खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति दे दी गयी है। '' विश्व संस्था ने बयान में कहा, ‘‘जिन खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति दी गयी है उनमें साइना नेहवाल (भारत), एचएस प्रणय (भारत) और जोन्स राल्फी जेनसन (जर्मनी) शामिल हैं। '' 

बीडब्ल्यूएफ ने कहा कि जिन खिलाड़ियों को पूर्व में वायरस के लिये पॉजीटिव पाया गया था वे अभी संक्रमित नहीं हैं। महासंघ ने कहा, ‘‘नेहवाल, प्रणय और जेनसन को पीसीआर परीक्षण में पॉजीटिव पाया गया था लेकिन उनका एंटीबॉडी आईजीजी परीक्षण भी पॉजीटिव है। पॉजीटिव एंटीबॉडी का मतलब है कि व्यक्ति पूर्व में किसी समय कोविड-19 वायरस से संक्रमित रहा। इसका मतलब यह नहीं है कि वे वर्तमान में संक्रमित हैं। '' 

बीडब्ल्यूएफ ने कहा, ‘‘ये तीनों 2020 में कोविड-19 से संक्रमित हुए थे। समिति संतुष्ट थी कि वे संक्रमित नहीं हैं और टूर्नामेंट को उनसे खतरा नहीं है। '' साइना और प्रणय पिछले महीने की इस संक्रमण से उबरे थे और भारतीय टीम के साथ एशियाई चरण के थाईलैंड ओपन (12-17 जनवरी) और टोयोटा थाईलैंड ओपन (19-24 जनवरी) तथा एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर फाइनल्स 2020 (27-31 जनवरी) में हिस्सा लेने की तैयारी कर रहे थे। 

साइना और कश्यप के मैच बुधवार को होंगे। कश्यप का खेलना हालांकि शाम को किये गये उनके परीक्षण के परिणाम पर निर्भर करेगा। जहां तक प्रणय का सवाल है तो बीडब्ल्यूएफ ने कहा है कि उनके दो परीक्षणों के विरोधाभासी परिणाम आने के बाद उनका फिर से परीक्षण किया गया। 

इसे भी पढ़ें :

साइना नेहवाल ने थाईलैंड ओपन से नाम वापस लिया, कोरोना के कारण हुई क्वारंटीन

IND Vs AUS : ब्रिस्बेन के होटल में सुविधा नहीं, खिलाड़ी टॉयलेट साफ करने को मजबूर

साइना को मंगलवार को पहले दौर में मलेशिया की किसोना सलवादुरई से खेलना था जबकि कश्यप को कनाडा के जेसन एंथोनी हो शुई का सामना करना था। कार्यक्रम के अनुसार प्रणय को बुधवार को पहले दौर में मलेशिया के आठवें वरीय ली जी जिया से खेलना है। 

साइना, प्रणय, कश्यप के अलावा आरएमवी गुरुसाईदत्त और प्रणव चोपड़ा पिछले महीने संक्रमित पाए गए थे और अनिवार्य पृथकवास से गुजरे थे। ये बैंकॉक रवाना होने से पहले हुए कोविड-19 परीक्षण और थाईलैंड पहुंचने पर हुए परीक्षण में नेगेटिव आए थे। भारतीय टीम में ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू, किदांबी श्रीकांत, सौरभ वर्मा, सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी, चिराग शेट्टी और अश्विनी पोनप्पा जैसे खिलाड़ी शामिल हैं।

Advertisement
Back to Top