IPL 2020 खेलने के लिए बने ये नियम, फॉलो नहीं किए तो मिलेगी सजा

IPL 2020 SOP Standard Operating Protocol Issued To Franchise Teams By BCCI - Sakshi Samachar

नियमों के उल्लंघन पर मिलेगी सजा

कोरोना पॉजिटिव पाए गए तो

फीजियो और मालीशिए के लिए एसओपी

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की बुधवार को फ्रेंचाइजियों को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के लिए सौंपी गई मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुसार टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली आठ टीमों को आठ अलग होटलों में रखा जाएगा, यूएई के लिए रवाना होने से पहले कोविड-19 परीक्षण में दो बार नेगेटिव आना अनिवार्य होगा और जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण से जुड़े किसी भी नियम का उल्लंघन करने पर सजा दी जाएगी।

इस दस्तावेज की प्रति पीटीआई के पास है जिसके अनुसार प्रत्येक फ्रेंचाइजी की चिकित्सा टीम के पास इस साल मार्च से सभी खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ का मेडिकल और यात्रा इतिहास होना चाहिए। इसके अनुसार, ‘‘फ्रेंचाइजी की पसंद के शहर में एकत्रित होने से पहले सभी भारतीय खिलाड़ियों और टीम सहयोगी स्टाफ के लिए एक हफ्ते में 24 घंटे के भीतर दो कोविड-19 पीसीआर परीक्षण कराना अनिवार्य होगा।'' 

नियमों के उल्लंघन पर मिलेगी सजा

इसमें कहा गया, ‘‘इससे यूएई के लिए रवाना होने से पहले समूह के भीतर संक्रमण का खतरा कम करने में मदद मिलेगी।'' एसओपी दस्तावेज के अनुसार, ‘‘जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से जुड़े नियमों के खिलाड़ी या टीम सहयोगी स्टाफ द्वारा किसी भी तरह के उल्लंघन पर आईपीएल आचार संहिता के नियमों के अनुसार सजा दी जाएगी। '' 

कोरोना पॉजिटिव पाए गए तो..

जो भी व्यक्ति कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया जाएगा उसे पृथकवास से गुजरना होगा और 14 दिन के बाद उस व्यक्ति को 24 घंटे के अंतर पर दो कोविड-19 परीक्षण कराने होंगे। अगर दोनों परीक्षण के नतीजे नेगेटिव आते हैं तो उस व्यक्ति को यूएई से जाने की स्वीकृति होगी। ये नियम सभी विदेशी खिलाड़ियों और टीम सहयोगी स्टाफ पर भी लागू होंगे। 

टेस्ट, टेस्ट और सिर्फ टेस्ट..

यूएई पहुंचने के बाद पहले, तीसरे और छठे दिन परीक्षण होंगे और फिर टूर्नामेंट के दौरान हर पांचवें दिन परीक्षण किया जाएगा।  फ्रेंचाइजी टीमों को अलग अलग होटल में रखा जाएगा। टीम के सदस्यों को ऐसे कमरे दिए जाएंगे जिसमें बाकी होटल से अलग सेंट्रल एयरकंडीशन की व्यवस्था होगी।'' इसमें कहा गया, ‘‘तीसरा नेगेटिव नतीजा आने के बाद टीम सदस्यों को जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण के बीच एक दूसरे से मिलने की स्वीकृति होगी। 

हालांकि हर समय चेहरे पर मास्क लगाना होगा और सामाजिक दूरी से जुड़े नियमों का पालन करना होगा। '' एसओपी के अनुसार लोगों को अपने कमरे में खाना मंगाना होगा और टीमों को खाने के सामूहिक स्थान के इस्तेमाल से बचना होगा।

खाली स्टैंड्स का इस्तेमाल भी ड्रेसिंग रूम के रूप में

 इसके अलावा आगामी आईपीएल के दौरान खाली स्टैंडों का इस्तेमाल विस्तारित ड्रेसिंग रूम के रूप में करने की सिफारिश की गई जबकि सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए टीम बैठक का आयोजन आउटडोर में किया जा सकता है। यूएई में 19 सितंबर से होने वाले आईपीएल के दौरान कोई टॉस शुभंकर नहीं होगा जिससे बीसीसीआई को प्रायोजन राशि का नुकसान होगा। 

परिवार साथ जा सकेंगे?

खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ के सदस्यों का परिवार उनके साथ जा सकता है लेकिन उन्हें टीम बस में यात्रा करने और जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से बाहर निकलने की स्वीकृति नहीं होगी। इसके अलावा टीमों को अंतिम एकादश की सूचना कागज पर देने की जगह इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से देने को कहा जाएगा। 

फीजियो और मालीशिए के लिए एसओपी

फिजियो और मालीशिए सहित मेडिकल टीम के लिए एसओपी में सिफारिश की गई है कि अगर उन्हें खिलाड़ी के शारीरिक संपर्क में आना है (मालिश सत्र आदि के लिए)तो पीपीई किट पहननी होगी। इसके अलावा अधिकांश सिफारिशें वही हैं जिसके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद अपने एसओपी में प्रकाशित कर चुका है।

Advertisement
Back to Top