गोल मशीन के नाम से मशहूर हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का निधन, 3 बार मिला था ओलंपिक गोल्ड मेडल

Hockey Olympian Balbir Singh Sr Passed Away in Mohali Punjab - Sakshi Samachar

लंबे समय से बीमार थे महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर

आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में थे शामिल 

चंडीगढ़ : पिछले दो सप्ताह से कई बीमारियों से जूझ रहे तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का सोमवार को निधन हो गया। 95 वर्षीय बलबीर के परिवार में बेटी सुशबीर और तीन बेटे कंवलबीर, करणबीर और गुरबीर हैं। 

मोहाली के फोर्टिस अस्पताल के निदेशक अभिजीत सिंह ने बताया, ‘‘उनका सुबह 6.30 पर निधन हुआ।'' बलबीर सीनियर को आठ मई को वहां भर्ती कराया गया था। वह 18 मई से अर्ध चेतन अवस्था में थे और उनके दिमाग में खून का थक्का जम गया था। उन्हें फेफड़ों में निमोनिया और तेज बुखार के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

देश के महानतम एथलीटों में से एक बलबीर सीनियर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गए आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में शामिल थे। हेलसिंकी ओलंपिक फाइनल में नीदरलैंड के खिलाफ पांच गोल का उनका रिकॉर्ड आज भी कायम है।

यह भी पढ़ें : 

सचिन ने आंख पर पट्टी बांधकर किया युवराज का चैलेंज ब्रेक, देखें वीडियो

नवाज शरीफ की पत्नी के नाना थे गामा पहलवान, इन्हें नहीं हरा पाया दुनिया का कोई रेसलर

बलबीर सिंह सीनियर दुनियाभर में गोल मशीन के नाम से मशहूर थे। भारत ने हॉकी में ओलंपिक लंदन (1948), हेल्सिंकी (1952) और मेलबोर्न (1956) में गोल्ड मेडल जीता था, खास बात यह है कि इन तीनों टीमों में बलबीर सिंह सीनियर मेडल विजेता टीम के हिस्सा थे। साल 1948 के लंदन ओलंपिक में अर्जनटीना के खिलाफ उन्होंने 6 गोल दागे थे, इस मैच में भारत 9-1 से जीता था।

Advertisement
Back to Top