6 December के बाद बदल गया Disha Case का पूरा Scene, जानें इसके आगे-पीछे की कहानी...

Know 11 important Points of Disha Murder Case - Sakshi Samachar

हैदराबाद: 27 नवंबर 2019 की रात 10 बजे हैदराबाद (Hyderabad) के करीब Veterinary Doctor दिशा (Disha) (बदला हुआ नाम) के साथ जो हुआ, उसने पूरे देश का दिल दहला दिया था। जिस निर्ममता के साथ चार अपराधियों ने उस रात दिशा को बीच सड़क अकेला पाकर न केवल उसके साथ गैंगरेप (GangRape) किया, ​बल्कि उसकी हत्या (Murder) करके बॉडी को दूर ले जाकर फेंक दिया।

इस घटना ने न सिर्फ हैदराबाद या तेलंगाना (Telangana), बल्कि पूरे देश को चारों हत्यारों के खिलाफ मौत की सजा मांगने के लिए मजबूर कर दिया। पूरा देश दिशा को न्याय दिलाने के लिए एकजुट होकर बीच सड़क आ पहुंचा। फिर, पुलिस की हिरासत से भागने की कोशिश करते हुए चारों को एनकाउंटर में मार गिराया गया।

इसके बाद पूरा देश उन पुलिसवालों को दुआएं देता और फूलों की वर्षा कर उनका स्वागत करता दिखा। हालांकि इस एनकाउंटर को लेकर उन पुलिस वालों को अब भी अपनी सफाई देना शेष है। ऐसी ही कई अन्य बातें भी हैं, जो इस केस के मामले में हम सभी को जानना चाहिए। आइए, ​महज 11 बिंदुओं में जान लेते हैं दिशा रेप और मर्डर केस में कब क्या हुआ? डालिए एक नजर...

November 27, 2019: हैदराबाद से कुछ दूर स्थित शम्शाबाद के बाहरी रिंग रोड पर टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पास चार लोगों ने दिशा का बलात्कार किया। फिर उसकी हत्या करके उसकी बॉडी को फेंक दिया।

November 28 : उसकी बॉडी शादनगर से सटे चट्टनपल्ली के करीब अंडरपास के पास बहुत ही बुरी हालत में पाई गई। पिता ने अपनी पुत्री की लाश से उसकी पहचान की।

November 29: चारों अपराधियों के नाम मोहम्मद आरिफ, जोलू नवीन, जोलू सिवा और चौधरी चन्नकेशवुलु थे। इन चारों को उनके गृह नगर नारायणपेट जिले से पुलिस ने पकड़ा था। पूरे देश में इस क्रूरता के लिए इन चारों के खिलाफ प्रदर्शन किए गए।

November 30: शादनगर शहर में धरना प्रदर्शन के दौरान इन चारों अपराधियों को स्थानीय पुलिस स्टेशन से स्थानीय मजिस्ट्रेट के पास ले जाया गया। चारों अपराधियों को 14 दिन की जूडिशियल कस्टडी में भेजा गया। अपराधियों को हैदराबाद के चारलापल्ली सेंट्रल जेल शिफ्ट कर दिया गया।

December 1: मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव ने अधिकारियों को आदेश दिया कि इस भयावह रेप व मर्डर केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाए।

December 2: शादनगर कोर्ट में साइबराबाद पुलिस ने एक पीटिशन फाइल की और पूछताछ के लिए चारों की कस्टडी की मांग की।

December 4: शादनगर कोर्ट ने पुलिस को 7 दिनों की न्यायिक हिरासत में इन्हें रखने की मांग मान ली।

December 5: साइबराबाद पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ने आगे की जांच के लिए इन चारों की कस्टडी ली।

December 6: चारों अपराधियों को पुलिस एनकाउंटर में गोली मार दी गई। खबरों के मुताबिक चट्टनपल्ली के करीब ये चारों अपराधी पुलिस के हथियार छीन कर भागने की कोशिश कर रहे थे।

December 12, 2019: Chief Justice S A Bobde के बेंच ने मामले की फाइनल रिपोर्ट जमा करने के लिए 6 महीने का वक्त दिया। इस मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की गई। इस टीम में बॉम्बे हाईकोर्ट की पूर्व जज रेखा सोंदुर बलदोटा और सीबीआई के पूर्व निदेशक डीआर कार्तिकेयन भी शामिल थे।

July 24, 2020: छह महीने बाद मामले की जांच में हो रही देर के लिए कोर्ट में कोविड-19 महामारी के हालात को वजह बताया गया।

दिशा रेप-मर्डर केस में इसके बाद अब तक कोई अपडेट हुआ है। उम्मीद की जा रही है कि कोरोना महामारी के खत्म होने के बाद मामले में आगे की सुनवाई की हो पाएगी।

Advertisement
Back to Top