जानिए, साक्षी समाचार पोल में सिने प्रेमियों ने वेब सीरीज मिर्जापुर 2 के बारे में क्या कहा, किस किरदार ने जीता सबका दिल?

Sakshi Samachar Poll on Mirzapur Web Series 2 Characters

हैदराबाद: साक्षी समाचार के आज के पोल में वेब सीरीज मिर्जापुर 2 में किस किरदार ने जीता आपका दिल?... यह सवाल पूछा गया था। इसके लिए चार आप्शन दिए गए थे—
मुन्ना भइया
गुड्डू पंडित
गोलू
कालीन भइया

साक्षी के पाठकों ने इस सवाल के जवाब में पहला स्थान मुन्ना भइया को दिया। दूसरा स्थान गुड्डू पंडित को, तीसरा स्थान कालीन भइया को और चौथा गोलू के कैरेक्टर को।

बता दें कि Mirzapur 2 वेब सीरीज के Review को देखकर ज्यादातर फिल्म समीक्षकों ने भी यही कहा था कि मिर्जापुर की इस दूसरी वेब सीरीज में कुछ भी नहीं बदला है, सीजन वन की तरह यहां भी सिर्फ मुन्ना, कालीन और गुड्डू का भौकाल नजर आ रहा है। कालीन भैया का जलवा और गुड्डू पंडित का बदला, दोनों ही फ्रंटसीट पर हैं।

मिर्जापुर में वही खून-खराबा, ताकत के लिए जंग और किसी पर भी भरोसा गलती साबित होना, जैसी चीजें मौजूद हैं। इस तरह मिर्जापुर के पहले सीजन में जो भी मसाला नजर आया था, वह इस सीजन में भी देखने को मिल रहा है और वह भी जस का तस। कालीन भैया का यह डायलॉग, 'राजा और राजकुमार सैक्रिफाइस नहीं करते हैं, प्यादे करते हैं। राजा और राजकुमार तो जिंदा रहते हैं।' पूरी कहानी को समझाने के लिए काफी है।

'मिर्जापुर 2 (Mirzapur 2)' की कहानी वहीं से शुरू होती है जहां मिर्जापुर की खत्म हुई थी। मुन्ना भैया अपनी रंगबाजी में हैं तो वहीं उनके पिता की नजर अपने बेटे को बाहुबली बनाने पर है। गुड्डू भैया घायल पड़े हैं और मुश्किल में हैं। इस तरह कहानी पूरे पेस के साथ शुरू होती है। मुन्ना भैया अब मिर्जापुर के बाद जौनपुर पर भी अपना जलवा चाहते हैं और अपने आप को अमर समझने लगे हैं।

लेकिन कालीन भैया मुन्ना को ऐसा डोज देते हैं कि होश ही फाख्ता कर देते हैं। हालांकि बीना त्रिपाठी अपने घर के मर्दों से परेशान है और वह मास्टरस्ट्रोक चलने की तैयारी में है। इस तरह 'मिर्जापुर 2' में हर वह मसाला परोसा गया है, जिसके लिए यह सीजन लोकप्रिय रहा है। फिर वह चाहे वनलाइनर हों, जमकर अपशब्दों का इस्तेमाल या फिर राजनीति का घनघोर खेल। इस तरह मिर्जापुर का सीजन 2 भी नए पात्रों के आने के बावजूद पुराने पात्रों के कंधों पर ही खड़ा है।

'मिर्जापुर 2 (Mirzapur 2)' के 10 एपिसोड हैं। इस पूरी कहानी में अली फजल, श्वेता त्रिपाठी, पंकज त्रिपाठी, दिव्येंदु शर्मा, रसिका दुग्गल और हर्षिता गौर समेत पूरी स्टारकास्ट ने अच्छा काम किया है। सभी ने अपने किरदारों को परदे पर अच्छे ढंग से उकेरा है लेकिन मिर्जापुर की जान मुन्ना, गुड्डू और कालीन ही हैं। साक्षी समाचार पोल में भी पाठकों ने  मिर्जापुर के फैन्स के लिए यह परफेक्ट ट्रीट है जबकि गालियों से परहेज करने वाले दर्शकों को इसे गले उतारने में दिक्कत हो सकती है। 

Advertisement
Back to Top