शरद पवार ने पूछा, मुंबई में कई अवैध इमारतें हैं फिर कंगना का ऑफिस ही क्यों ?

NCP Chief Sharad Pawar Not Happy Of Kangana Ranaut Office Demolition  - Sakshi Samachar

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

कंगना का ऑफिस तोड़ना बेहद गैर-जरूरी कार्रवाई

मुंबई में कई ऐसी अवैध इमारतें हैं, फिर कंगना का ऑफिस ही क्यों

मुंबई : एक्ट्रेस कंगना रनौत के मुंबई स्थित ऑफिस पर बीएमसी की कार्रवाई अब उद्धव सरकार के लिए मुसीबत बनती जा रही है। महाराष्ट्र सरकार के लिए यह दांव उलटा पड़ता नजर आ रहा है।  न सिर्फ भाजपा बल्कि अब गठबंधन के साथी भी बीएमसी के इस एक्शन पर सवाल खड़े कर रहे हैं। इनमें सबसे प्रमुख एनसीपी नेता शरद पवार हैं।

शरद पवार ने कंगना के मुंबई स्थित कार्यालय पर बुलडोजर चलने के बाद तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे बेहद गैर-जरूरी कार्रवाई करार दिया है। एनसीपी प्रमुख एवं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार ने कहा कि मुंबई में कई ऐसी अवैध इमारतें हैं। ऐसे में बीएमसी अधिकारियों ने ऐसा निर्णय क्यों लिया, यह देखने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि बीएमसी की कार्रवाई ने गैरजरूरी तौर पर लोगों को अवसर दे दिया है कि वे इस पर बोलें। 

बयानों को अनुचित महत्व दिया जा रहा

शरद पवार ने बुधवार को कंगना रनौत का नाम लिए बिना कहा कि उनके बयानों को अनुचित महत्व दिया जा रहा है। पवार ने कहा कि लोग उनकी टिप्पणियों को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। शरद पवार ने यह भी कहा कि इस सप्ताह के शुरू में मिली धमकी को वह गंभीरता से नहीं लेते हैं। कंगना हाल ही में उस समय विवादों में घिर गयी जब उन्होंने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की और कहा कि उन्हें नगर की पुलिस से ज्यादा डर लगता है। 

शरद पवार ने संवाददाताओं से कहा, "हम ऐसे बयान देने वालों को अनुचित महत्व दे रहे हैं। हमें देखना होगा कि लोगों पर इस तरह के बयानों का क्या प्रभाव पड़ता है।" उन्होंने कहा, ‘‘मेरी राय में, लोग (ऐसे बयानों को) गंभीरता से नहीं लेते हैं।" पवार ने कहा कि महाराष्ट्र और मुंबई के लोगों को राज्य और नगर की पुलिस के काम के संबंध में ‘‘वर्षों का अनुभव" है। 

उन्होंने कहा, "वे (लोग) पुलिस के काम को जानते हैं। इसलिए हमें इस पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है कि कोई क्या कहता है।" हाल ही में मिली धमकी के बारे में पूछे जाने पर पवार ने कहा, '' मुझे अभी-अभी धमकी भरे कॉल का रिकॉर्ड दिया गया है और कॉल कहां से किए गए थे। विगत में भी मुझे कॉल आए हैं। हम इसे गंभीरता से नहीं लेते हैं।" 

Advertisement
Back to Top