आंध्र प्रदेश में तेलुगु देशम पार्टी का कोई अस्तित्व नहीं है : KE प्रभाकर

  MLC KE Prabhakar Resigned From Telugu Desam Party - Sakshi Samachar

पूर्व मंत्री केई कृष्णा मूर्ति के भाई और टीडीपी के एमएलसी केई प्रभाकर ने पार्टी को गुड बॉय कहा है।

प्रदेश में अब तेलुगु देशम पार्टी का अस्तित्व नहीं है।

अमरावती : तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) को धक्के पे धक्के लगते जा रहे हैं। टीडीपी के नेताओं का पार्टी छोड़ने सिलसिला लगातार जारी है। 
इसी क्रम में कर्नूल जिले में टीडीपी को एक और गहरा धक्का लगा है। पूर्व मंत्री केई कृष्णा मूर्ति के भाई और टीडीपी के एमएलसी केई प्रभाकर ने पार्टी को गुड बॉय कहा है। प्रभाकर ने शुक्रवार को टीडीपी की सदस्यता से इस्तीफा दिये जाने की घोषणा कर दी है। 
इस अवसर पर प्रभाकर ने मीडिया से कहा, "प्रदेश में अब तेलुगु देशम पार्टी का अस्तित्व नहीं है। टीडीपी के जिला नेता एक बीजेपी नेता की बातें सुन रहे हैं। कम से कम एक कार्पोरेट टिकट मांगने पर भी पार्टी देने की हालत में नहीं है। शीघ्र ही  मुझे किस पार्टी में शामिल होना है, इस बारे में खुलासा किया जाएगा।" 

यह भी पढ़ें :

http://GVMC चुनाव से पहले बड़ी संख्या में YSRCP में शामिल हुए टीडीपी व जनसेना के नेता

गौरतलब है कि स्थानीय निकायों के चुनाव के पहले टीडीपी को गहरे धक्के लग रहे हैं। इससे पहले टीडीपी के अनेक वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी छोड़ दी है। 
इसी तरह अनंतपुर जिले में टीडीपी के अनेक नेता पार्टी छोड़ने का मन बनाया है। चर्चा है कि टीडीपी के एमएलसी शमंतकमणि तथा उनकी बेटी और पूर्व विधायक यामिनी बाला ने पार्टी छोड़ने का मन बना लिया है। पता चला है कि ये नेता कुछ समय से पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू के रवैये से असंतोष है। दलितों के प्रति चंद्रबाबू के रवैये से ये नेता खफा है। इसी के चलते ये नेता पार्टी छोड़ने का मन बना लिया है। 

Advertisement
Back to Top