'बेनामी भूमि से चंद्रबाबू का कोई संबंध नहीं तो CBI से जांच कराने में क्या हर्ज है?'

gadikota srikanth reddy questions why chandrababu naidu afraiding of CBI investigation - Sakshi Samachar

मीडिया के माध्यम से सरकार के खिलाफ गलत जानकारी

बेनामी भूमि से कोई संबंध नहीं हैं तो सीबीआई से जांच कराने की मांग

अमरावती : आंध्र प्रदेश के मुख्य सचेतक गडीकोटा श्रीकांत रेड्डी ने कहा कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी द्वारा सीजेआई को पत्र लिखे जाने के बाद नेता प्रतिपक्ष चंद्रबाबू नायडू नदारद हुए हैं। अज्ञातवास में रहते हुए समर्थक मीडिया के माध्यम से सरकार के खिलाफ गलत जानकारी दे रहे हैं। लोगों को सरकार के खिलाफ भड़काकर गुमराह करना चाहते हैं। 

गडीकोटा ने कहा कि चंद्रबाबू किसे संदेश दे रहे और क्यों तथा क्या संदेश दे रहे इसे लेकर खुद ही पशोपेश में हैं। उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू अमरावती के भूमि अधिग्रहण को लेकर सीबीआई द्वारा जांच की मांग क्यों नहीं कर रहे हैं? क्या उन्हें सीबीआई की जांच से डर लग रहा है?

श्रीकांत रेड्डी ने सवाल किया कि चंद्रबाबू नायडू और उनके बेटे नारा लोकेश का बेनामी भूमि से कोई संबंध नहीं हैं तो सीबीआई से जांच कराने की मांग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हाल में कृष्णा नदी में बाढ़ आई है। प्रकाशम बराज से कुछ ही दूरी पर चंद्रबाबू नायडू ने मकान बनवाया। अब यह मकान पानी से घिर गया है।

मुख्य सचेतक ने सवाल किया कि करकट्टा के निकट चंद्रबाबू को अवैध रूप से मकान का निर्माण करने को किसने कहा? क्या उनके मकान के निकट बाढ़ का पानी का जमाव न हो, इसलिए प्रकाशम बराज का पानी निचले क्षेत्र में छोड़ देना चाहिए? क्या बराज को सूखा रखना चाहिए?
 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top